DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमानत की गुहार लगा सकते हैं आरोपी

जमानत की गुहार लगा सकते हैं आरोपी

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को शोपियां कांड के संबंध में जम्मू एवं कश्मीर उच्च न्यायालय के उस आदेश को निरस्त कर दिया, जिसमें कहा गया था कि आरोपी पुलिस अधिकारी जमानत की गुहार सत्र न्यायालय में नहीं लगा सकते।

प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति केजी बालकृष्णन और न्यायमूति पी सतशिवम की खंडपीठ ने अपने आदेश में कहा कि पुलिस अधीक्षक जावेद इकबाल और पुलिस उपाधीक्षक  रोहित बस्कोत्रा जमानत के लिए सीधे सत्र न्यायालय में जा सकते हैं।

सर्वोच्च न्यायालय ने यह भी आदेश दिया कि सत्र न्यायालय इन दोनों अधिकारियों की जमानत याचिका पर उच्च न्यायालय के आदेश और इस मामले में बनी धारणाओं से प्रभावित हुए बिना सुनवाई करे।

गौरतलब है कि पिछले दिनों शोपियां में दो युवतियों के साथ दुष्कर्म के बाद उनकी हत्या कर दी गई थी। इसी मामले में इन दोनों अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जमानत की गुहार लगा सकते हैं आरोपी