DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विद्युत ठेकेदारों के लाइसेंसों की जांच के निर्देश

उत्तर प्रदेश के उर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय ने विद्युत सुरक्षा निदेशालय के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे इस बात की जांच कर शासन को रिपोर्ट दें कि पावर कारपोरेशन के अधीन संविदा के माध्यम से कार्य कराने वाले ठेकेदारों के पास वैध लाइसेन्स है या नहीं तथा जो व्यक्ति विद्युत संबंधी कार्य कर रहे हैं वे भी प्रशिक्षित लाइसेन्स धारक हैं कि नहीं।

साथ ही उनसे यह भी सुनिश्चित कराने के लिए कहा है कि बड़े बिल्डरों द्वारा बनवायी जा रही उंची इमारतों में विद्युत संबंधी कार्य लाइसेन्सी व्यक्ति द्वारा करवाये जा रहे हैं।
    
उर्जा मंत्री आज यहां विद्युत सुरक्षा निदेशालय के कार्यकलापों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में विद्युत संबंधी दुर्घटना दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही हैं। ऐसे में विद्युत सुरक्षा निदेशालय के अधिकारियों की यह जिम्मेदारी है कि वे विद्युत दुर्घटनाओं को रोकने के लिए विद्युत मानकों पर विशेष ध्यान देते हुए कार्य करें। वे नियमित रुप से अपने क्षेत्रों की विद्युत लाइनों का गहन निरीक्षण करें तथा जहां कहीं विद्युत तार ढीले और नीचे हों उसकी सूचना पावर कारपोरेशन को तत्काल देने के साथ ही शासन को भी रिपोर्ट करें।

वे यह भी देखें कि विद्युत लाइनों में कमियों संबंधी जो रिपोर्ट पावर कारपोरेशन को दी गयी है, उसका अनुपालन हो रहा है। यदि विद्युत लाइनों को ठीक नहीं किया जा रहा है, तो इसकी सूचना भी तत्काल शासन को दें ताकि शासन स्तर से उस पर कार्रवाई करवाई जा सके तथा कार्य न करने वाले अधिकारियों के विरुद्घ आवश्यक कार्रवाई की जा सके।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विद्युत ठेकेदारों के लाइसेंसों की जांच के निर्देश