DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुणकारी पपीता

पपीते में बीटा-कैरोटिन की काफी मात्रा होती है। यह एक प्रमुख विटामिन होता है जिसकी वजह से पपीते का रंग पीला होता है और इसमें शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं। इसके अलावा, यह फ्री रेडिकल्स का क्षय होने से बचाव करता है जिसकी वजह से पपीते का सेवन करने वालों में कैंसर होने की संभावना काफी हद तक कम हो जती है। साथ ही यह हृदय रोग, समय से पहले बुढ़ापा आने जसी स्थितियों से बचाव करता है। यही नहीं, इस गुणकारी फल के और फायदे भी हैं। पपीते का सेवन करने से शरीर में विटामिन ए की कमी नहीं होने पाती, जिससे ब्लाइंडनैस जसी समस्याओं पर काबू पाया जता है। अधिक मात्रा में पपीता खाने से हथेलियां और त्वचा पीली पड़ जाती है। लगभग आधा पपीता खाने से एक वयस्क की रोजमर्रा की विटामिन सी की पूíत हो जाती है, साथ ही शरीर में पर्याप्त मात्रा में आयरन और कैल्शियम भी पहुंच जाता है। पपीता पेट साफ रखने के लिहाज से गुणकारी होता है।

चिकित्सकीय गुण

कई लोगों में ये अंधविश्वास होता है कि अगर गर्भवती महिला पपीते का सेवन करेगी, तो गर्भपात हो जाएगा। इसके विपरीत पपीते में पाचनतंत्र को बेहतर करने की तमाम खूबियां होती हैं। जो लोग वजन कम करने के लिए प्रयासरत हैं, उनके लिए पपीता काफी फायदेमंद है, क्योंकि इसमें कैलोरी की मात्रा कम और फाइबर की मात्रा ज्यादा होती है और पानी की मात्रा भी पर्याप्त होती है। पपीता पेपिन का भी प्रमुख स्रोत होता है। पेपिन ऐसा एंजइम है जो प्रोटीन के पाचन के लिहाज से काफी बेहतर होता है। यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने पपीते के चिकित्सीय इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। इसका जूस त्वचा का रंग निखारने और त्वचा के दाग-धब्बे दूर करने में सहायक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुणकारी पपीता