DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘थ्री-पी’ मंत्र

किसी भी जॉब इंटरव्यू को आजकल मार्केटिंग की घटना मानकर ही चलना चाहिए। आप पूछेंगे, इसमें प्रोडक्ट क्या है, जिसे बेचा जाना है? इसका जवाब है: आप। जी हां, इंटरव्यू में उम्मीदवार की स्थिति प्रोडक्ट की ही होती है। उसे बेचने के लिए खास मार्केटिंग रणनीति अपनानी होती है, जिसके बल पर कामयाबी की सौ फीसदी उम्मीद की जा सकती है। इंटरव्यू में अपने प्रोफेशनलिज्म को पर्सनैलिटी, यूएसपी और स्किल्स के साथ ठीक से पेश करें। इंटरव्यू में कामयाबी का थ्री-पी (यानी प्लान, प्रिपेयर, प्रैक्टिस) मंत्र काफी कारगर रहता है-

इंटरव्यू की तैयारी के लिए कंपनी पर रिसर्च करें और इसकी विना पर संभावित प्रश्नों की सूची तैयार कर लें।  

इन प्रश्नों, खासकर आपको बेचैन करने वाले प्रश्नों के जवाब देने का अभ्यास करें। इसके लिए मॉक-इंटरव्यू करें। इंटरव्यू के लिए प्रोफेशनल लिबास में ही जाएं।

इंटरव्यू से कम से कम 15 मिनट पहले वन्यू पर पहुंच जाएं।

इंटरव्यू लेने वाले के साथ पूरी गर्मजोशी और बाग-बाग तबियत के साथ मुस्कुराकर हाथ मिलाएं। 

बॉडी लैंग्वेज ठीक रखें। सीधे बैठें। झुककर बैठना आत्म विश्वास की कमी को दर्शाता है।

पटरी बैठाएं। इंटरव्यू लेने वालों के साथ सहज संवाद कायम करने की कोशिश करें। नजर मिलाकर बात करें। असरदार तरीके से और स्पष्ट जवाब दें।

अच्छे श्रोता बनें। जब कुछ पूछा जाए, तभी सधा हुआ जवाब दें।

नौकरी पाने के प्रति गहरी दिलचस्पी और उमंग दिखाएं। लेकिन बेताबी न झलके।

नोट्स तैयार करें। इंटरव्यू के अगले चरण में ये काम आएंगे। अपनी योग्यता, निष्ठा और हुनर बेहिचक प्रदर्शित करें। इंटरव्यू के बाद फॉलोअप जरूर करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘थ्री-पी’ मंत्र