DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुद्रास्फीति शून्य से नीचे बरकार

दाल, अनाज, फल एवं सब्जियों की कीमत में बढ़ोतरी के मद्देनजर मुद्रास्फीति 11 जुलाई को समाप्त सप्ताह के दौरान चढ़कर 0.04 प्रतिशत बढ़ कर शून्य से 1.17 फीसदी पर आ गई। पिछले सप्ताह मंहगाई दर शून्य से 1.21 फीसदी नीचे थी। पिछले साल इसी दौरान मुद्रास्फीति 12.13 फीसदी थी।

यह लगातार छठा सप्ताह है जबकि मुद्रास्फीति शून्य से नीचे है लेकिन 28 जुलाई को होने वाली ऋण नीति की समीक्षा में भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा प्रमुख दरों में कटौती की कोई संभावना नहीं है। एचडीएफसी बैंक की अर्थशास्त्री ज्योतिंदर कौर ने कहा कि प्रणाली में पर्याप्त नकदी है इसलिए रिजर्व बैंक सभी प्रमुख दरों को अपरिवर्तित रख सकता है।

योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने इस आशंका को खारिज किया कि सरकार के बाजार ऋण लेने से दरों में बढ़ोतरी होगी। अनुमान है कि चालू वित्त वर्ष में सरकार करीब 4.5 लाख करोड़ रुपये के ऋण लेगी।

आलोच्य सप्ताह के दौरान मछली की कीमत नौ फीसदी, फल एवं सब्जियों की तीन फीसदी, अचार एवं मसाले, मक्का और चावल की कीमत में एक-एक फीसदी की बढोतरी हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुद्रास्फीति शून्य से नीचे बरकार