अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलूचिस्तान की धुंध

बलूचिस्तान चर्चा में है। पहले से ही इस बात पर भारत में विवाद हो रहा था कि शर्म अल शेख में भारत-पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों की बातचीत के बाद जरी संयुक्त वक्तव्य में बलूचिस्तान का जिक्र क्यों हुआ? ज्यादातर लोग मानते हैं कि इस वक्तव्य में बलूचिस्तान का जिक्र अच्छी बात नहीं है, क्योंकि पाकिस्तान यह कह सकता है कि इससे जाहिर होता है कि बलूचिस्तान में गड़बड़ी में भारत का हाथ है। पाकिस्तान में ऐसी चर्चा होने भी लगी है। पाकिस्तानी अखबार ‘डॉन’ ने खबर छापी है कि प्रधानमंत्रियों की बातचीत के समय इफ्तेखार रजा गिलानी ने डॉ. मनमोहन सिंह को ऐसे दस्तावेज दिए, जिनमें बलूचिस्तान में भारतीय हाथ के सबूत हैं। भारत सरकार की ओर से ऐसे दस्तावेज मिलने की बात का खंडन हुआ है और पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने कुछ भी कहने से इनकार किया है। वसे तो पाकिस्तान 26/11 के बारे में उसे दिए गए सबूतों को भी सबूत नहीं मान रहा है तो उससे यह उम्मीद की जानी चाहिए कि उसके पास अगर भारत के खिलाफ उससे ज्यादा ठोस सबूत होने चाहिए, जितने 26/11 के बारे में भारत के पास हैं।  भारत का कहना यह रहा है कि बलूचिस्तान के असंतोष में उसका कोई हाथ नहीं है। इसलिए यह गुत्थी और भी जटिल हो जाती है कि आखिर अभी बलूचिस्तान का मसला क्यों आया और इससे पाकिस्तान को क्या लाभ है।

बलूचिस्तान में असंतोष पाकिस्तान के बनने के समय से ही है, क्योंकि बलूच तब भी मुस्लिम लीग के पाकिस्तान बनाने के विचार से सहमत नहीं थे। पाकिस्तान की पंजाबी प्रभुत्व वाली सरकारों से आजाद ख्याल बलूचों की कभी नहीं पटी, वैसे भी सांस्कृतिक तौर पर बलूची अफगानिस्तान के ज्यादा करीब हैं बनिस्पत पाकिस्तान के। अगर पाकिस्तानी हुक्मरान यह सोचते हैं कि बलूचिस्तान में भारत के हाथ होने की कहानियां फैला कर वे अपने घरेलू दर्शकों को बहला लेंगे तो यह दांव उलटा भी पड़ सकता है। पाकिस्तान सरकार लगातार सीमावर्ती लोगों को संदेहास्पद बना कर पाकिस्तान की केन्द्रीय पंजबी और सिंधी जनता को भड़काती रही है। बलूचिस्तान में भारत को निशाना बनाकर पाकिस्तानी सरकार बलूचियों को अपने से और दूर कर रही है। लेकिन बलूचिस्तान पर हुआ विवाद और धुंध में घिरता जा रहा है। अगले कुछ दिनों में शायद यह साफ हो कि संयुक्त वक्तव्य में यह उल्लेख अच्छी रणनीति कहा जएगा या खराब राजनय।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बलूचिस्तान की धुंध