अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कनेरिया ने जगाई पाक की उम्मीद

कनेरिया ने जगाई पाक की उम्मीद

लेग स्पिनर दानेश कनेरिया ने गुरुवार को श्रीलंका के दो महत्वपूर्ण विकेट हासिल करके पाकिस्तान की तीसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में जीत की उम्मीदें बढ़ा दी।

श्रीलंका ने रिकार्ड 492 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक तीन विकेट पर 183 रन बनाए हैं और उसे सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप करने के लिए अब भी 309 रन की दरकार है। सलामी बल्लेबाजों के अलावा अनुभवी महेला जयवर्धने का विकेट गंवाने से अब उसकी उम्मीदें कप्तान कुमार संगकारा पर टिकी हैं जो 50 रन पर खेल रहे हैं जबकि तिलन समरवीरा ने 20 रन बनाए हैं।

सीरीज में पहली बार मैच पांचवें दिन में जाएगा। पहला मैच चार और दूसरा तीन दिन तक ही चला था। सिंहलीज स्पोटर्स क्लब की पिच से अब भी बल्लेबाजों को मदद मिल रही है लेकिन पाकिस्तान की उम्मीदे कनेरिया पर टिकी हैं जिन्होंने मालिंडा वर्णपुरा और तरांगा परानविताना की 83 रन की साझेदारी तोड़ने के बाद जयवर्धने को भी पवेलियन भेज। उन्होंने अब तक 56 रन देकर दो विकेट लिए हैं। इससे पहले पाकिस्तान ने अपनी दूसरी पारी नौ विकेट पर 425 रन बनाकर समाप्त घोषित की। उसकी तरफ से पूर्व कप्तान शोएब मलिक ने 134 रन बनाए।

श्रीलंका के सामने जितना बड़ा लक्ष्य है, आज तक कोई भी टीम चौथी पारी में उतने रन बनाकर जीत दर्ज नहीं कर पायी है। रिकार्ड वेस्टइंडीज के नाम है जिसने 2003 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ सात विकेट पर 418 रन बनाकर जीत दर्ज की थी। एसएससी मैदान पर चौथी पारी में सर्वाधिक रन बनाकर जीत का रिकार्ड श्रीलंका के नाम है जिसने 1998 में जिम्बाब्वे के खिलाफ पांच विकेट पर 326 रन बनाए थे।

वर्णपुरा और परानविताना ने पहले 25 ओवर तक कोई विकेट नहीं गिरने दिया और सीरीज  में अपनी सर्वश्रेष्ठ भागीदारी निभाई जिससे श्रीलंका की रिकार्ड लक्ष्य हासिल करने की उम्मीद जग गई लेकिन तीसरे सत्र में तीन विकेट गंवाने से वह फिर बैकफुट पर पहुंच गया। वर्णपुरा ने 31 रन बनाए और इंग्लैंड के अंपायर इयान गाउल्ड के गलत फैसले के शिकार बने। कनेरिया की गेंद उनके पैड से लगकर शार्ट लेग क्षेत्ररक्षक के पास गई थी।

परानविताना ने 73 रन की प्रवाहमय पारी खेली और मलिक की गेंद पर फारवर्ड शॉर्ट लेग पर फावद आलम को आसान कैच देकर पवेलियन लौटे। कनेरिया ने जल्द ही अपना दूसरा विकेट हासिल किया। जयवर्धने ने क्रीज पर 29 मिनट बिताने और दो रन बनाने के बाद विकेटकीपर कामरान अकमल को कैच थमाया।

इससे पहले पाकिस्तान ने सुबह पांच विकेट पर 300 रन से आगे खेलना शुरू किया और स्कोर में अभी केवल 19 रन जुड़े थे कि कामरान अकमल ने दिन के चौथे ओवर में नुवान कुलशेखरा की गेंद पर स्लिप में जयवर्धने को कैच थमा दिया। अकमल ने 74 रन बनाए जिसमें आठ चौके और एक छक्का शामिल हैं। उन्होंने इस बीच मलिक के साथ छठे विकेट के लिये 133 रन की साझेदारी की।

निचले क्रम में उमर गुल ने मलिक के साथ सातवें विकेट के लिए 52 रन की साझेदारी करके जतला दिया कि पिच से गेंदबाजों को अधिक मदद नहीं मिल रही है। गुल ने 50 गेंद पर 46 रन बनाए। मलिक छह घंटे क्रीज पर बिताने के बाद स्पिनर रंगना हेराथ की गेंद पर सीमा रेखा के करीब कैच देकर पवेलियन लौटे लेकिन तब तक पाकिस्तान की बढ़त 467 रन की हो गई थी। मलिक ने अपनी पारी में 13 चौके और दो छक्के लगाए और तीसरे दिन पाकिस्तान को चार विकेट पर 67 रन से उबारने में अहम भूमिका निभाई।

गुल ने टेस्ट क्रिकेट में अपना सर्वाधिक स्कोर बनाया। उन्होंने हेराथ पर तीन छक्के भी लगाए और आखिर में इसी गेंदबाज की गेंद सीमा रेखा पार पहुंचाने के प्रयास में डीप स्क्वायर लेग पर कैच देकर पवेलियन की राह पकड़ी। हेराथ ने 46 ओवर में 157 रन देकर पांच विकेट लिए।

पाकिस्तान की पारी समाप्त की घोषणा के साथ ही श्रीलंका के सबसे सफल तेज गेंदबाज चामिंडा वास का गेंदबाज के रूप में टेस्ट कैरियर भी समाप्त हो गया। अपना अंतिम टेस्ट खेल रहे वास ने 111 टेस्ट मैच में 355 विकेट लिए। उन्हें पहले दो मैच के लिये टीम में नहीं लिया गया था और अपने अंतिम मैच में उन्होंने 39 रन देकर केवल एक विकेट लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कनेरिया ने जगाई पाक की उम्मीद