अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोत्र विवादः कोर्ट का वर पक्ष को सुरक्षा का आदेश

गोत्र विवादः कोर्ट का वर पक्ष को सुरक्षा का आदेश

पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने सरकार को समगोत्रीय विवाह विवाद में लड़के के परिवार को सुरक्षा देने को कहा है। झज्जर जिले में एक ही गोत्र की लड़की से विवाह के बाद स्थानीय पंचायत ने लड़के के परिवार को गांव छोड़ने का फरमान जारी किया था।

उल्लेखनीय है कि झज्जर जिले में अपने ही गोत्र की लड़की के साथ विवाह करने के बाद यहां की एक स्थानीय पंचायत ने लड़के के परिवार के सदस्यों के खिलाफ गांव छोड़ने का फरमान जारी किया था।

पीड़ित परिवार के वकील आरएस मलिक ने चंडीगढ़ में संवाददाताओं को बताया कि न्यायमूर्ति केसी पुरी की अदालत ने हरियाणा सरकार, रोहतक के पुलिस महानिरीक्षक, झज्जर के एसएसपी, बेरी पुलिस थाने के थाना प्रभारी को 12 अगस्त के लिए नोटिस जारी किया है।

धारणा गांव बेरी पुलिस थाने के अंतर्गत आता है। मलिक ने कहा कि अदालत ने राज्य सरकार से परिवार के सदस्यों को समुचित सुरक्षा देने को कहा है। वर पक्ष रविन्दर सिंह गहलोत (23) के परिवार के सदस्यों ने बुधवार को अदालत में रिट याचिका दायर कर पुलिस सुरक्षा और पंचायत के सदस्यों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी।

पंचायत के सदस्यों ने एक ही गोत्र की लड़की से विवाह की अनुमति देने के लिए गहलोत परिवार को झज्जर जिले स्थित उनके पैतृक गांव से बाहर निकलने को मजबूर कर दिया था।

रविंदर द्वारा चार महीने पहले कादियान गोत्र की 20 वर्षीय लड़की से विवाह करने के बाद गहलोत परिवार को रविवार सुबह तक धाराणा गांव छोड़ने का आदेश दिया गया था। पंचायत ने दूल्हे पर गहलोत और कादियान के बीच की समगोत्रीय व्यवस्था को तोड़ने का आरोप लगाया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गोत्र विवादः कोर्ट का वर पक्ष को सुरक्षा का आदेश