DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़ा शरारती है आरची

बड़ा शरारती है आरची

हैलो दोस्तो, मेरा नाम ऋषभ है। मैं आठवीं क्लास में पढ़ता हूं। मैं अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेलता हूं। कम्प्यूटर पर भी गेम्स खेलना अच्छा लगता है। मेरे घर में मैं अपने मम्मी-पापा और अपने भैया के साथ रहता हूं। दोस्तो, अब मैं तुम्हें अपने बेस्ट फ्रैंड के बारे में बताने जा रहा हूं। इस बेस्ट फ्रेंड का नाम ‘आरची’ है और यह मेरा पैट डॉग है। आरची को मैं और मेरे भैया मोती नगर से लेकर आए थे। यह सिर्फ तीन माह का है। भले ही यह तीन माह का है, लेकिन है बड़ा शरारती। यह हमेशा मेरे पीछे-पीछे घूमता रहता है। जब मैं अपनी पढ़ाई कर रहा होता हूं, तब कभी-कभी यह मेरी किताबें लेकर भाग जाता है। बुलाने पर भी वापस नहीं आता। अगर हमारे घर में कोई मेहमान आता है तो उसके साथ भी शरारतें करता है। उसकी बुरी आदत है कि अगर कोई छेड़ दे तो यह उसे काटने को दौड़ता है। आरची मेरे ही कमरे में सोता है, पर कभी-कभी मेरे और मेरे भैया के साथ बिस्तर में घुस जाता है। यूं ज्यादातर मेरे कमरे में जो इसके सोने की जगह बनी हुई है, यह वहीं सोता है।

दोस्तो, मेरे मम्मी-पापा नहीं चाहते थे कि कोई कुत्ता हमारे घर आए, क्योंकि उन्हें ऐसा लगता था कि पैट का पालन-पोषण करना मुश्किल काम है। आरची को भी वे घर लाना नहीं चाहते थे, लेकिन मेरी जिद पर ही उन्होंने उसे घर लाने की इजाजत दी। आरची हमारे घर आने के कुछ दिनों बाद ही बीमार पड़ गया था। वह न तो कुछ खाता था, न दूध पीता था, न ही खेलता था। इसकी ऐसी हालत देख कर मैं डर गया। हम इसे एक डॉक्टर के पास ले गए। डॉक्टर ने हमें बताया कि आरची कमजोर है। उसे ज्यादा देखभाल की जरूरत है। तब से हम आरची को महीने में दो बार डॉक्टर के पास लेकर जाते हैं। डॉक्टर अंकल आरची का पूरा चैकअप करते हैं। साथ ही उसे जरूरी इन्जेक्शन भी लगाते हैं, ताकि वह किसी बीमारी का शिकार न हो जाए। आरची सभी प्रकार के फल खाता है और साथ ही हम इसे डॉग फूड भी देते हैं, जो इसके लिए बहुत जरूरी है। मैं रोज शाम को इसे घुमाने भी ले जाता हूं, जिससे यह बहुत खुश रहता है। मैं इसके साथ पार्क में भी खेलता हूं। मेरे साथ-साथ मेरे दोस्त भी इसे बहुत प्यार करते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बड़ा शरारती है आरची