अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्टैटस सिंबल वालों के लिए ऑर्म्स लाइसेंस नहीं होगा आसान

फिल्म स्टार सोहा अली, सुखबीर बादल की पत्नी या फिर यूरो शूट ऑउट को लेकर साइबर सिटी में आर्म्स लाइसेंस विवादों में रहा है। इसे देखते जिला प्रशासन ने आर्म्स लाइसेंस में भारी तब्दीली की है। नए नियम के अनुसार अब पुलिस को डीसी के सामने यह साबित करना होगा कि व्यक्ति विशेष को वास्तव में आर्म्स लाइसेंस की जरूरत है। हाल ही डीसी को पुलिस ने 177 लोगों के लाइसेंस संबंधी आवेदन की फाइल सौंपी थी। डीसी ने फाइलों की दोबारा जांच की बात कहकर इसे वापस कर दिया। इसके तहत आवेदक की प्रॉपटी, शिक्षा, समाजिक सरोकार सहित लाइसेंस की जरुरत सहित अन्य जानकारियां भी मांगी गई है।


साइबर सिटी में लोगों के लिए आर्म्स रखना पहली पंसद बन चुका है। मंहगी विदेशी कार और बगल में आर्म्स होना स्टेटस सिम्बल हो गया है। पहले के वर्षो में रेवड़ी की तरह आर्म्स लाइसेंस बांटे गए। इसे देखते हुए मौजूदा डीसी आरके कटारिया ने आर्म्स लाइसेंस को लेकर नियमों में सख्ती कर दी है। बुधवार को हिन्दुस्तान से बातचीत में कटारिया ने कहा कि लाइसेंस रेवड़ियों की तरह नहीं बॉटे जा सकते हैँ। गुड़गांव में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम लागू है। ऐसे में प्रशासन नहीं चाहता है कि किसी ऐसे व्यक्ति के नाम लाइसेंस जारी कर दिया जाए, जिसे इसकी जरुरत ना हो। इसी लिए पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि आर्म्स लाइसेंस के लिए आवेदन करने वालों की पूरी जांच के बाद ही इस दिशा में आगे की कार्रवाई की जाए। अगर किसी की जान को खतरा है तो किससे? प्रोफेशन क्या है, व्यापार और प्रॉपटी संबंधी जानकारी की विस्तृत जानकारियां हासिल करना जरुरी है। इसके आधार ही पुलिस को डीसी के सामने यह सिद्ध करना होगा कि आवेदनकर्ता के लिए आर्म्स एक जरुरत है ना कि स्टैटस सिंबल। डीसीपी हेड क्वॉटर की ओर से आर्म्स लाइसेंस के लिए लगभग 177 आवेदन डीसी के पास भेजे गए थे। सभी आवेदनों की नए नियम के आधार पर जांच करने के लिए कहा गया है।


पहले पुलिस, आवेदनकर्ता के क्राइम का रिकार्ड देखते हुए आर्म्स के आवेदन को डीसी के पास भेज देती थी। बाद में प्रशासन की ओर से लाइसेंस भी जारी कर दिए जाते थे। एक अनुमान के मुताबिक तीन हजार से अधिक लाइसेंस जारी किए गए है।

प्रमुख घटनाएं जो सुर्खियों में रही

-यूरो शूट ऑउट मामले दोस्त ने दोस्त को स्कूल में गोली मार दी थी। तब साइबर सिटी में जारी किए जा रहे आर्म्स को लेकर खासा विवाद हुआ था।
- सुखबीर बादल की पत्नी को लाइसेंस को लेकन विवाद हुआ था।
- पूर्व क्रिकेटर मंसूर अली पटौदी की पुत्री और फिल्म स्टार सोहा अली खान को लाइसेंस पर विवाद।
-शादी-विवाह में डीजे पर चलने वाले गाने को लेकर कई जगहों पर गोली मारने की घटना

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्टैटस सिंबल वालों के लिए ऑर्म्स लाइसेंस नहीं होगा आसान