DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएसएनएल अधिकारी और कर्मचारी यूनियन लामबंद हुए

भारत सरकार द्वारा बीएसएनएल के दस प्रतिशत शेयर के विनिवेश के फैसले पर बीएसएनएल अधिकारी और कर्मचारी यूनियन लामबंद हो गई है। बीएसएनएल एग्जिक्यूटिव एसोसिएशन, संचार निगम एग्जिक्यूटिव एसोसिएशन और बीएसएनएल इम्पलायज एसोसिएशन ने यूनाइटेड फोरम के बैनर तले भोजनावकाश प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने सरकार विरोधी नारे लगाए। उन्होंने कहा कि सरकार समय रहते नहीं चेती तो उग्र आंदोलन किया जायेगा।


बुधवार को सीजीएम कार्यालय के बाहर बीएसएनएल के अधिकारी और कर्मचारी यूनियनों ने संयुक्त रुप से भारत सरकार के फैसले का विरोध किया। संचार निगम एसोसिएशन के सर्किल सचिव जय विक्रम सिंह ने भारत सरकार के फैसले की आलोचना की। उन्होंने कहा कि भारत सरकार बीएसएनएल के दस प्रतिशत शेयर का विनिवेश करने जा रही है। निगम के अधिकारी और कर्मचारी इस फैसले का विरोध करते हैं। सार्वजनिक क्षेत्रों के उपक्रमों को नीजि हाथों में देकर सरकार अपनी जिम्मेदारियों से मुंह मोड़ रही है। पदाधिकारियों ने बताया कि बीएसएनएल के खस्ता हाल होने के पीछे कमजोर मार्केटिंग हैं। उन्होंने बताया हर साल अरबों रुपया मार्केटिंग के नाम पर बहा दिया जाता हैं। इसके स्थान पर स्टाफ को ट्रेंड और सेवाओं को सुधारा जाए। 


प्रदर्शन में पीसी उनियाल,एसएस रौथांण, सर्वेस, सैदाब अली, कृष्ण कुमार, एनके शर्मा, एसएन पांडे, एसके बहुगुणा, मदन सिंह रावत, एसएस चमोली, शिव शंकर आदि लोग शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीएसएनएल अधिकारी और कर्मचारी यूनियन लामबंद हुए