DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नैनो का लम्बा इंतजार नहीं कर सकते

रतन टाटा ने लखटकिया की चाबी सौंपकर विश्व की सबसे सस्ती कार सड़क पर दौड़ाने का अपना वादा तो पूरा कर लिया, लेकिन सोहणी सिटी के लोग नैनो का बरस-दो बरस इंतजार करने को राजी नहीं है। सोहणी सिटी में नैनो को ना कहने वालों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ रही है। बड़े उत्साह से नैनो की खातिर बुकिंग कराने वाले लोग बड़ी संख्या में अपनी बुकिंग कैंसल करा रहे हैं।

बुकिंग कैंसल कराने वालों की संख्या किसी बैंक शाखा में 50 फीसदी तो कहीं 30 फीसदी तक है। नैनो ने बुकिंग के लिए भारतीय स्टेट बैंक के साथ करार किया हुआ है। कैंसल कराने वाले लोगों की मानें तो नैनो की डिलिवरी में होने वाली देरी प्रमुख कारण है। इस समय तक पैसे को फंसा नहीं सकते और बैंक को सूद देने के पक्ष में नहीं हैं। उनका कहना है कि वे अब नैनो की जगह दूसरे विकल्प की ओर से ध्यान दे रहे हैं।

सूत्रों के अनुसार नैनो की बुकिंग कैंसल कराने वालों में केवल सामान्य व्यक्ति नहीं कई बैंक अधिकारी और उनके घरवाले भी शामिल हैं। नैनो के चक्कर में लोगों को हर माह अच्छा खासा ब्याज भरना पड़ रहा है जो नैनो को ना कहने का मुख्य कारण बन रहा है।


पेशे से मैं मेडिकल सुपरीटेंडेंट हूं। अपनी रीच में होने की वजह से मैने नैनो की बुकिंग कराई थी। मैंने कंडीशन रखी थी कि अगर प्रथम एक लाख में मेरा नंबर नहीं आता है तो मेरी बुकिंग कैंस कर दी जाए। इस प्रक्रिया पर जब काम नहीं हुआ तो मैंने स्वत: बुकिंग कैंसल करवा ली। अभी तक ब्याज के तौर पर मैं 4 हजार रुपए ब्याज जमा करा चुका हूं, और हजार रुपए तो कट ही जाएंगे।
- राकेश कुमार भट्ट, जीरकपुर निवसी

मुझे गाड़ी की जरूरत थी। वर्किग वुमेन के नाते नैनो मेरे लिए अच्छा ऑप्शन हो सकती है, यह सोचकर मैने बुकिंग करवा ली। मेरा नंबर 2011 में आएगा, जब यह जानकारी मुङो मिली तो मैने ब्याज की ओर ध्यान दिया। यह सौदा काफी महंगा पड़ता। ऐसे में मैने दूसरी गाड़ी खरीदने की सोंचकर बुकिंग कैंसल करवा ली। 300 रुपए फॉर्म के और लगभग 3 हजर रुपए ब्याज के तौर पर मुङो चुकाना पड़ा है।
- बीबी गोयल, मेडिकल लैब टेक्नोलॉजिस्ट

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नैनो का लम्बा इंतजार नहीं कर सकते