अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रपति और चुटकुले

कहा जाता है कि बाकी देशों के पास एक सेना होती है, लेकिन पाकिस्तान में सेना के पास एक देश है। पाकिस्तान में कई चीजें उलट-पुलट हैं, जिन्हें समझना मुश्किल है। भारत आरोप लगाता है कि पाकिस्तान में आतंकवादियों को पनाह मिलती है लेकिन असलियत यह है कि पाकिस्तान के आतंकवादी नहीं हैं आतंकवादियों का पाकिस्तान है। पाकिस्तान बना रहे, इसकी कोशिश सारी दुनिया इसीलिए करती है कि अगर पाकिस्तान न रहा तो सेना और आतंकवादी बिना देश के हो जाएंगे और तब वे इधर-उधर ज्यादा मुंह मारेंगे, जब तक पाकिस्तान है तब तक वे काफी हद तक नियंत्रित हैं। पाकिस्तान दुनिया के इस डर को जनता है, इसीलिए वह गाहे-बगाहे धमकी देता रहता है कि वह नहीं रहेगा।

जब पाकिस्तान, सेना और आतंकवादियों के पास है तो जाहिर है कि वह वहां की सरकार के पास तो नहीं है। इसीलिए आसिफ अली जरदारी ऐसे राष्ट्रपति हैं, जिनके पास कोई देश नहीं है। जरदारी को इससे कोई खास शिकायत भी शायद नहीं है, वे राष्ट्रपति बने ही इस आधार पर थे कि वे देश की मांग नहीं करेंगे। शायद उन्होंने अमेरिका से यह मांग की थी कि ज्यादा नहीं, दस प्रतिशत ही देश उन्हें दे दिया जए, बिना देश के राष्ट्रपति मजाक जैसा लगता है। अमेरिका ने कहा कि वह उन्हें राष्ट्रपति तो बनवा सकता है, लेकिन देश नहीं दे सकता। किसी वक्त सेना और आतंकवादी दोनों अमेरिका की सुनते थे, लेकिन पिछले दिनों स्वतंत्र हो गए। और जैसा कि तय था कि जरदारी मजाक के पात्र हो गए। अभी खबर आई है कि जरदारी से संबंधित चुटकुले प्रसारित करने वाले को पाकिस्तान में जेल हो सकती है।

जिसने भी यह फरमान जारी किया है, उसने भी अच्छा खासा मजाक किया है। पाकिस्तान में हर राष्ट्रपति पर चुटकुले बनते और प्रसारित होते हैं या यह कहा जाए कि चुटकुले तो होते हैं वे राष्ट्रपति को ढूंढते रहते हैं, यानी पाकिस्तानियों को चुटकुलों के लिए एक राष्ट्रपति की जरूरत होती है। अब जरदारी राष्ट्रपति हैं तो चुटकुले उन पर हैं। जब जिया उल हक जैसे तानाशाह को चुटकुलों ने नहीं बख्शा तो जरदारी क्या हैं। सेना, आतंकवादी, कट्टरपंथी वगैरह के बावजूद पाकिस्तान इसीलिए बना हुआ है कि पाकिस्तानी चुटकुले बना सकते हैं और हंस सकते हैं। अगर पाकिस्तानी मजाक करना बंद कर दें तो पाकिस्तान खतरे में पड़ जाएगा। उससे जरदारी को तो कोई फर्क नहीं पड़ेगा, सेना और आतंकवादी कहां जाएंगे। राजनैतिक व्यंग्य एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें हम भारतीय पाकिस्तानियों का मुकाबला नहीं कर सकते। इसीलिए चुटकुलों पर प्रतिबंध पाकिस्तान के खिलाफ एक षड्यंत्र है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रपति और चुटकुले