अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मर्यादा का मान

आतंकवाद के इस दौर में खतरे कई तरह के हैं, इसलिए यह बात कहने में हरदम अच्छी लगती है कि सुरक्षा के जो तौर-तरीके बनाए जाएं, उनमें किसी भी तरह की ढील न दी जाए। किसी को भी कभी भी बख्शा न जाए। नियम होना भी यही चाहिए। लेकिन इन नियमों को जब हम हकीकत में उतारते हैं तो कई संवेदनाओं, भावनाओं और मर्यादाओं का ख्याल रखना पड़ता है। इसलिए भी कि किसी की भावना आहत न हो और इसलिए भी कि किसी के सम्मान को ठेस न पहुंचे। ऐसे नियम कायदों का आखिरी मकसद सुरक्षा देना होता है, न कि सुरक्षा से जुड़े लोगों को बिना सोचे-समझे हर किसी से एक जैसा सुलूक करने की जिद देना। ढाई महीने पहले इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के साथ जो सुलूक हुआ, वह इसी तरह की जिद का नतीजा था। यह बात अलग है कि इस तरह का सुलूक करने वाली कांटीनेंटल एयरलाइन ने बाद में माफी मांग ली लेकिन एयरलाइन के सुरक्षा अधिकारी ने पहले जो प्रतिक्रिया दी थी कि हम सभी के साथ एक जैसा व्यवहार करते हैं, वह प्रतिक्रिया सुरक्षा देने की उसकी प्रतिबद्धता नहीं, बल्कि नियम बजाने की उसकी जिद ही दिखाती है।

हालांकि उस मौके पर पूर्व राष्ट्रपति किसी भी आम नागरिक की तरह सुरक्षा जांच के लिए न सिर्फ लाइन में लगे, जूते मोजे भी उतारे और तलाशी भी दी, इतना ही नहीं उन्होंने बाद में इसकी किसी से शिकायत तक नहीं की। लेकिन यह मामला पूर्व राष्ट्रपति की सज्जनता का नहीं, देश के स्वाभिमान का है। और इससे भी बड़ी बात यह है कि उनका यह अपमान देश की सरजमीं पर ही हुआ है। इसलिए यह सुनिश्चित किया जाना जरूरी है कि भविष्य में देश के किसी सम्मानित व्यक्ति को अपमान के ऐसे दौर से न गुजरना पड़े। एक और बात की जांच भी जरूरी है कि इतनी बड़ी घटना इतने समय तक प्रकाश में कैसे नहीं आ सकी। पूर्व राष्ट्रपति के साथ मौजूद सुरक्षा अधिकारियों ने इसकी शिकायत भी की थी, लेकिन वह शिकायत कहां दबी रह गई? इसके अलावा सुरक्षा से जुड़ी हुई बहुत सी बातें हैं जिन पर हमें ही नहीं पूरी दुनिया को ध्यान देना चाहिए। यह ठीक है कि आतंकवाद का खतरा लगातार बढ़ रहा है, इसके बावजूद हमें सुरक्षा के ऐसे तरीके निकालने होंगे, जो आम नागरिकों को परेशान न करें, उनका अपमान न करें और आतंकवादी खतरों को पकड़ने में पूरी तरह सक्षम भी हों। लेकिन आम लोगों के सम्मान की चिंता तो दूर, हम उसे पूर्व राष्ट्राध्यक्ष तक के लिए अपमानजनक बना रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मर्यादा का मान