अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बादलों ने सूर्यग्रहण देखने से लोगों को वंचित किया

झारखंड की राजधानी रांची में आसमान में बादल छाए रहने के काण लोग इस शताब्दी के सबसे लंबे सूर्य ग्रहण का दीदार करने से वंचित रह गए। 
 

मौसम विभाग के प्रभारी मौसम वैज्ञानिक जी के मोहंती ने बताया कि बादलों के कारण सूर्य ग्रहण नहीं देखा जा सका। उन्होंने सूर्य ग्रहण का मौसम पर किसी तरह के प्रभाव पडने की संभावना से पूरी तरह इंकार भी किया। आज तड़के सूर्योदय के समय से ही आसमान पर बादल छाए रहे और दिन में हल्की-हल्की बारिश होती रही। 
 

मोहंती ने बताया कि आसमान में अगले 48 घंटो तक बादल छाए रहने की संभावना है। सूर्यग्रहण के कारण राजधानी के स्कूलों के समय में भी परिवर्तन किया गया था और ज्यादातर स्कूल नौ बजे सुबह के बाद शुरु हुए। रांची में सूर्यग्रहण का स्पर्श सुबह पांच बजकर 29 मिनट पर हुआ जबकि मोक्ष सात बजकर 28 मिनट पर हुआ। सूर्यग्रहण के बाद धार्मिक आस्था रखने वाले लोगों ने नदियों सरोवरो और घरों में स्नान किया और चावल तथा पैसे दान किए। सूर्यग्रहण के दौरान मंदिरों के पट भी बंद रहे। सूर्यग्रहण के बाद मंदिरों के पट खुले और श्रद्धालुओं का जमावड़ा राजधानी के विभिन्न मंदिरों में होने लगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बादलों ने सूर्यग्रहण देखने से लोगों को वंचित किया