DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विप्रो का शुद्ध मुनाफा 12 फीसदी बढ़ा, राजस्व में कमी

विप्रो का शुद्ध मुनाफा 12 फीसदी बढ़ा, राजस्व में कमी

देश की तीसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) कंपनी विप्रो ने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में वैश्विक कारोबार से प्राप्त होने वाले राजस्व में कमी के बावजूद लाभ की स्थिति बनाए रखने में सफलता हासिल की है।

कंपनी की ओर से पहली तिमाही की वित्तीय स्थिति के बारे में जारी बयान के मुताबिक दूसरी तिमाही में भी कमोबेश यही स्थिति बने रहने की संभावना जताई गई है। आईटी सेवाओं से पहली तिमाही में 1.03 अरब डालर का राजस्व हासिल हुआ जिसके दूसरी तिमाही में 1.03 से 1.05 अरब डालर के बीच रहने का अनुमान है। यह राशि पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में अजिर्त 1.11 अरब डालर से कम है।

पहली तिमाही के बारे में जारी बयान के मुताबिक भारतीय लेखा प्रणाली के तहत इस अवधि में कंपनी का शुद्ध मुनाफा 12 फीसदी बढ़कर 10.16 अरब रुपये हो गया जबकि कुल राजस्व में पांच फीसदी की बढ़ोतरी हुई और यह 62.74 अरब रुपये हो गया।

अंतरराष्ट्रीय लेखा प्रणाली के तहत शुद्ध मुनाफ में 13 फीसदी की बढ़ोतरी हुई और यह 21.2 करोड़ हो गया जबकि कुल राजस्व में पांच फीसदी की बढ़ोतरी हुई और यह 1.31 अरब डालर हो गया।

विप्रो के मुख्य वित्तीय अधिकारी सुरेश सेनापति ने कहा कि वैश्विक आईटी कारोबार से प्राप्त होने वाला राजस्व 1.03 अरब डालर रहा जो क्रमश: 1.3 और 3.3 फीसदी कम है। पिछले 12 महीने में डालर के मूल्य में गिरावट आई है और यह 44.78 रुपये से 48.23 रुपये हो गया।

विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी ने एक बयान में कहा कि हमें कारोबार में स्थिरता नजर आने लगी है। हम आशा करते हैं कि दूसरी तिमाही में हमारा आईटी राजस्व 103.5 से 105.5 करोड़ डालर के बीच रहेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विप्रो का शुद्ध मुनाफा 12 फीसदी बढ़ा, राजस्व में कमी