अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जब वी मैट

जब वी मैट

सचिन और मेरी मुलाकात कोई जाने ना के सैट पर हुई थी। हम पायलट एपिसोड को देख रहे थे। इसकी शूटिंग खत्म होते-होते हम दोनों दोस्त बन चुके थे। संयोग से बाद के शो में डेट्स न होने की वजह से दोनों ने ही काम नहीं किया। हम दोनों अब भी इस पर हंसते हैं..यह पांच वर्ष पहले की बात है। इस शो के दो-तीन साल बाद तक हम एक-दूसरे से मिलते-जुलते रहे। एक दिन सचिन ने मुझे फोन किया और पूछा कि क्या मैं उसके साथ फिल्म देखने के लिए फ्री हूं। मैं उस दिन फ्री थी और मैंने हां कह दी।

मुंबई के उपनगर में हमें जब वी मैट देखनी थी। मैं ठीक समय पर पहुंच गयी, वैसे भी मैं समय की बहुत ज्यादा पाबंद हूं। सचिन जब आया तो फिल्म शुरू हो चुकी थी। शुरुआत मिस करने का मुझे बहुत बुरा लगा। शायद मेरी बॉडी लैंग्वेज से ही लग रहा था कि मैं गुस्से में हूं। हम दोनों के बीच थोड़ी-सी बहस भी हुई और मैंने सोचा कि अब मैं सचिन से दोबारा नहीं मिलूंगी। इस तरह हमारी पहली डेट का अंत हुआ। उसके बाद हम दोनों ने एक दूसरे से संपर्क करने का कोई प्रयास नहीं किया।

इसके बाद अचानक हम दोनों की दोबारा बातचीत शुरू हो गयी। हम दोनों फंक्शंस में एक-दूसरे से टकराने लगे। एक बार वह हमारे घर के बिलकुल पास शूटिंग कर रहा था। वह मुझसे बातचीत करना चाहता था। सचिन ने मेरे घर फोन करके कहा कि वह मेरे घर आना चाहता है। वह लंच के लिए ब्रेक के समय हमारे घर आया। कुछ क्षण वह खामोश रहा और फिर उसने कहा, ‘हम कपल के रूप में कैसे लगते हैं? उसने यह बात इतनी ईमानदारी से पूछी थी कि मैं उसका चेहरा देखती रह गयी। इसके बाद वह मेरी गोदी में सिर रख कर लेट गया और उसने यह स्वीकार किया कि इन वर्षो में वह मेरी ओर आकर्षित हो गया है। मेरा हमेशा से मानना रहा है कि कोई भी रिश्ता टाइमपास नहीं होता, बल्कि विवाह उसका लक्ष्य होता है।

बेशक यह फलीभूत न हो पाये, लेकिन आपके मन में यह लक्ष्य तो होना ही चाहिए। इसके बाद सचिन अपनी शूटिंग पर चला गया। उसके जाने के बाद मैंने उसकी कही हुई बात के बारे में सोचना शुरू किया। मैंने उसके प्रस्ताव पर कई दिन सोचा और पाया कि यही वह शख्स है, जिसका मुङो इंतजार था। मैंने उसे फोन करके बताया कि मैं इस संबंध के लिए तैयार हूं, लेकिन मैंने इस बात पर भी जोर दिया कि वह मुझे बाकायदा घुटनों के बल झुक कर प्रपोज करेगा। मैंने उसे धमकी दी कि यदि वह ऐसा नहीं करेगा तो मैं शादी के मंडप से भाग जाऊंगी। मेरे जन्मदिन पर वह मुङो पुणे से कुछ किलोमीटर दूर एक रिजॉर्ट पर ले गया। वह कमरा मोमबत्तियों और ताजे फूलों से शानदार ढंग से सजा हुआ था। उसने मोमबत्तियों को फर्श पर इस ढंग से सजाया हुआ था कि आई लव यू पढ़ा जा रहा था।

वहीं उसने घुटनों के बल झुक पर मुझे प्रपोज किया। मेरे लिये यह जीवन का सबसे रोमांटिक क्षण था। इसके बाद हमने घंटों बातचीत की। हर पांच मिनट बाद एक बैरा आता और मेरे लिए गिफ्ट लाता। मैं बहुत खुश थी। मेरा जन्मदिन मेरे लिए खास दिन बन गया था। उसकी यह योजना थी कि वह रात के बारह बजे पूलसाइड पर केक काटे, लेकिन मैं बुरी तरह थक चुकी थी और मेरी आंखों में नींद थी। मैं ग्यारह बजे के करीब सो गयी। उसने मुझे नींद से भी नहीं जगाया और अगले दिन सुबह अपने सरप्राइज प्लान के बारे में बताया। यह शादी से पहले हमारी सबसे लंबी डेट थी। जब हम वापिस आए तो हमने मां बाप को बताया। और इसके बाद हमने जल्द ही शादी कर ली।   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जब वी मैट