DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली में देखा गया आंशिक सूर्य ग्रहण

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज आंशिक सूर्यग्रहण पड़ा लेकिन आसमान में बादल छाए रहने के कारण यह स्पष्ट तौर पर नहीं देखा जा सका।

यहां के राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र सूर्यग्रहण देखने के लिए विशेष इंतजाम किए गए थे। केंद्र के उप निदेशक रामदास अय्यर ने बताया कि सूर्यग्रहण सुबह छह बजकर 23 मिनट पर शुरू हुआ लेकिन शीघ्र ही बादल छा जाने के कारण इसे स्पष्ट तौर पर नहीं देखा जा सका। केंद्र में आज के दिन विभिन्न स्कूलों के करीब आठ हजार बच्चों को सूर्यग्रहण देखने के लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित किया गया था लेकिन ग्रहण शुरू होने के थोड़ी ही देर बाद बादलों के कारण इनके चेहरे पर मायूसी छा गई।

उन्होंने बताया कि यह सूर्यग्रहण मानसूनी बाधा के कारण स्पष्ट नहीं रहा लेकिन चीन के शंघाई में जहां मानसूनी बाधा नहीं रही, इसे स्पष्ट तौर पर देखा गया। उन्होंने यह भी बताया कि बिहार के पटना में आर्यभट्ट की कर्मभूमि रहे तरेगना में भी बादलों की लुका छिपी के कारण सूर्यग्रहण सुस्पष्ट नहीं देखा जा सका।

दिल्ली के अलावा देश के अन्य 13 राज्यों में सुबह पांच बजकर 28 मिनट के बाद से अलग अलग समय पर पूर्ण या आंशिक सूर्यग्रहण शुरू देखा गया। यह इस शताब्दी का सबसे बडा और इकलौता खग्रास सूर्यग्रहण है। सूर्यग्रहण के प्रभाव क्षेत्र के अंतिम छोर पर जापान के कुछ शहर भी शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली में देखा गया आंशिक सूर्य ग्रहण