अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उ.कोरिया-म्यांमार सैन्य सहयोग से यूएस चिंतित

उ.कोरिया-म्यांमार सैन्य सहयोग से यूएस चिंतित

अमेरिकी विदेशी मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा है कि उनका देश सैन्य शासित म्यांमार को उत्तर कोरिया से संभावित परमाणु तकनीक हस्तांतरण को लेकर चिंतित है।

क्लिंटन ने थाइलैंड के फूकेत में आयोजित क्षेत्रीय सुरक्षा बैठक में हिस्सा लेने के लिए राजधानी बैंकाक पहंुचने के बाद एक टेलीविजन चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा कि मुझे लगता है कि सबसे अधिक खतरा परमाणु हथियारों तथा जनसंहार हथियारों के प्रसार से है। इसलिए यह सही है कि हम उत्तर कोरिया और म्यांमार के बीच सैन्य सहयोग की रिपोर्टों को लेकर चिंतित हैं।

उल्लेखनीय है कि गत जून और जुलाई में अमेरिका द्वारा एक उत्तर कोरियाई पोत को प्रतिबंधित हथियार संभावित रूप से म्यांमार ले जाने के आरोप में पकड़े जाने के बाद म्यांमार और उत्तर कोरिया के बीच सैन्य सहयोग की संभावना को और बल मिल गया हैं।

उच्च पदस्थ अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार क्लिंटन फुकेत में उत्तर कोरिया को दो विकल्प देने पर क्षेत्रीय सहयोगियों से चर्चा करेंगी। पहला यह कि परमाणु कार्यक्रम जारी रखने पर उस पर और प्रतिबंध लगाए जाएं या उन्हें बंद करने पर उत्तर कोरिया को और व्यापक प्रोत्साहन पैकेज दिए जाएं।

इस बैठक में उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम और म्यांमार में लोकतंत्र को बढ़ावा देने जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर भी चर्चा होगी। इसके अलावा क्लिंटन चीन, जापान, रूस और दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्रियों से मुलाकात कर इस मामले पर चर्चा करेंगी कि उत्तर कोरिया को परमाणु कार्यक्रम छोड़ने के लिए कैसे तैयार किया जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उ.कोरिया-म्यांमार सैन्य सहयोग से यूएस चिंतित