DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूर्यग्रहण के दौरान हजारों ने किए गंगा स्नान

बिहार में सूर्यग्रहण के दौरान और इसके बाद  बुधवार को पटना में गंगा नदी के घाटों पर हजरों श्रद्घालुओं ने डूबकी लगाई। मान्यता है कि सूर्यग्रहण के समय तथा इसके बाद गंगा में स्नान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है।

पटना के गंगा नदी के कलेक्टेरियट घाट, मूर्ति घाट, बांसघाट तथा दानापुर पीपापुल घाट पर आज सुबह से ही श्रद्घालु जुटने लगे थे। इसके अलावे बक्सर, भागलपुर, मुजफ्फपुर सहित कई क्षेत्रों में लोग ग्रहण के दौरान नदियों, तालाबों एवं नहरों में स्नान किए और दान दिए।

आचार्यों के मुताबिक ग्रहण के बाद स्नान करने से पूण्य की प्राप्ति होती है। पंडित महादेव मिश्र की मानें तो सूर्यग्रहण के बाद स्नान और दान करने से कई यज्ञों का फल प्राप्त होता है। ऐसी मान्यता है कि नदी, झीलें, तालाब ना भी हो तो ग्रहण के बाद स्नान और दान करने के बाद ही कार्य करना चाहिये।

उधर, मंदिरों में भी आज पूजा करने वालों की भारी भीड़ देखी जा रही है। सूर्यग्रहण को लेकर राजधानी के कई मंदिरों में भजन-कीर्तन का भी आयोजन किया गया। राधेकृष्ण मंदिर, उमा महादेव मंदिर तथा पटना सिटी के शिव मंदिर में मंगलवार की शाम से ही भजन-कीर्तन का आयोजन किया गया जो बुधवार को सूर्यग्रहण तक चलता रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूर्यग्रहण के दौरान हजारों ने किए गंगा स्नान