DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहीद को अंतिम विदाई देने उमड़ पड़ा बिलासपुर

चाइना बार्डर पर हुई क्रास फायरिंग में शहीद बीएसएफ जवान का पार्थिव शरीर मंगलवार को देर शाम ग्रेटर नोएडा के बिलासपुर कस्बा स्थित पैतृक निवास लाया गया। बिलासपुर में सैनिक सम्मान के साथ शहीद की अंत्येष्टि की गई। अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए बिलासपुर कस्बे के हजारों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। शहीद के सम्मान में बिलासपुर की सभी मार्केट बंद कर दिए गए।


अंत्येष्टि में दिल्ली से शस्त्र सेना सुरक्षा बल के अधिकारी व कैबिनेट मंत्री वेदराम भाटी तो शामिल हुए लेकिन शहीद के सम्मान में पुलिस व प्रशासन का एक भी अफसर नहीं पहुंचा। लोगों में पुलिस प्रशासन के प्रति बेहद रोष है। शहीद के सम्मान की उपेक्षा किए जाने  से लोग खफा है। बिलासपुर निवासी विनोद 24 अपने छह भाई, बहनों में सबसे छोटा था। करीब साढ़े तीन वर्ष पहले सेना में भर्ती हुआ था। दस जून को बीए के एग्जाम देकर अरुणाचल प्रदेश के चाइना बार्डर पर पहुंचा था, जहां सोमवार तड़के चाइना बार्डर पर हुई क्रास फायरिंग में जवान विनोद गोली लगने से शहीद हो गया। शहीद के शव को हवाई जहाज से दिल्ली लाया गया। उसके साथ उसका साथी कांस्टेबल सुभाष व दिल्ली से शस्त्र सुरक्षा बल के अधिकारी प्रेम प्रकाश शर्मा देर शाम बिलासपुर पहुंचे।
शहीद का शव आने की सूचना से पूरा बिलासपुर गमगीन हो गया और सैनिक सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार कर दिया गया। शहीद के सम्मान में जनपद के पुलिस प्रशासन का एक भी अफसर नहीं पहुंचा । शहीद के सम्मान को भुला दिए जाने से लोग पुलिस प्रशासन के प्रति बेहद खफा हैं। जब इस बारे में पुलिस प्रशासन के अफसरों से पूछा गया तो उन्होंने ऐसी जानकारी से इंकार किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शहीद को अंतिम विदाई देने उमड़ पड़ा बिलासपुर