DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस के सामने होटल मालिक को पीटा, लाठीचार्ज

पूर्व सांसद शाहिद अखलाक के बेटे की पिटाई के बाद गुदड़ी बाजर में पथराव के बाद फायरिंग हो गई। भीड़ ने एक होटल में तोड़फोड़ कर दी। भगदड़ मच गई। बाजर बंद हो गए। पुलिस अधिकारियों समेत शहर भर की फोर्स मौके पर पहुंच गई। होटल मालिक ने शाहिद अखलाक और उनके भाइयों पर तोड़फोड़ का आरोप लगाया तो भीड़ ने पुलिस के सामने ही होटल मालिक को जमकर पीटा और तोड़फोड़ कर दी।

पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ दिया। कुछ देर मामला शांत रहा लेकिन थोड़ी देर बाद शाहिद अखलाक के एक रिश्तेदार को चाकू मारे जाने पर भीड़ एकत्र होकर गद्दी बिरादरी के लोगों की तरफ दौ़ड़ पड़ी। पुलिस की मौजूदगी में लाइसेंसी असलहों से जमकर फायरिंग की गई। पुलिस ने किसी तरह भीड़ पर काबू पाकर घायल को अस्पताल में भर्ती कराया।

शाहिद अखलाक और घायल के परिजनों की तरफ से कोतवाली थाने में रिपोर्ट दर्ज कराईं गई हैं। देर रात तक कोतवाली में तनावपूर्ण हालात को देखते हुए पीएसी तैनात कर कर दी गई थी। पूर्व सांसद शाहिद अखलाक का बेटा साकिब (16) एमपीएस में नौंवी क्लास का स्टूडेंट है। हाजी शाहिद अखलाक के मुताबिक साकिब मंगलवार दोपहर को कैप्टीवा गाड़ी में ड्राइवर के साथ फैक्ट्री के लिए निकला था।

डाकखाने के पास गद्दी बिरादरी के कुछ लड़कों से उसका विवाद हो गया। युवकों ने गाड़ी रोककर साकिब को खींचने का प्रयास कर दिया। विरोध करने पर युवकों ने उससे मारपीट कर पिस्टल की बट मार दी। साकिब का कहना है कि आरोपियों ने पिस्टल से फायरिंग भी की। इसी बीच शोर मचाने पर गुदड़ी से काफी लोग साकिब को बचाने के लिए दौड़ पड़े।

भीड़ ने बसपा नेता बशीर गाजी के चाचा मेराजुद्दीन के होटल में तोड़फोड़ कर दी। हमले से बाजर बंद हो गया। बवाल की सूचना मिलते ही एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह, एएसपी मनोज कुमार समेत शहर भर की पुलिस पहुंच गई। इस बीच शाहिद अखलाक के हजारों समर्थक आरोपियों को सजा देने का शोर मचाने लगा। पुलिस अधिकारियों ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया।

मेराजुद्दीन ने होटल में तोड़फोड़ का आरोप शाहिद अखलक और उनके भाइयों साजिद और राशिद पर लगाते हुए गाली-गलौज की तो सैकड़ों लोग शोर मचाते हुए होटल की तरफ दौड़ पड़े। पुलिस अधिकारी कुछ समझ पाते इससे पहले ही भीड़ ने होटल मालिक को पीटना शुरू कर दिया। होटल में दोबारा तोड़फोड़ कर दी। बवाल बढ़ता देख पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ दिया।

उस वक्त तो मामला शांत हो गया लेकिन करीब आधे घंटे बाद अचानक शाहिद का रिश्तेदार कासिम निवासी सरधना दौड़ता हुआ आया और चाकू लगने की बात कहकर हाजी शाहिद के घर के बाहर गिर पड़ा। उसकी छाती से खून निकल रहा था। यह देखकर भीड़ फिर बेकाबू हो गई।

पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में ही लाइसेंसी असलहों से फायरिंग करते हुए लोग आरापियों को घेरने की बात कहते हुए गली में दौड़ पड़े। किसी तरह पुलिस अधिकारियों ने भीड़ को गली में जाने से रोक दिया। पुलिस घायल कासिम को तत्काल जिला अस्पताल ले गई जहां से उसे मेडिकल कॉलेज ले जया गया।

पूर्व सांसद शाहिद अखलाक ने मीडिया के सामने कहा कि यह पुलिस प्रशासन की ढील का नतीज है। वे इस बारे में मुख्यमंत्री मायावती को लिखकर भेज रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब तक आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी वे चुप नहीं बैठेंगे। इसके साथ ही उन्होंने आरोपियों से कोई पुरानी रंजिश होने से साफ इंकार कर दिया। उन्होंने बताया कि कुछ आवारा किस्म के युवक हैं जो माहौल बिगाड़ने में लगे रहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्व सांसद के बेटे की पिटाई के बाद तोड़फोड़