DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिलरी का आना

सुर्खियां बटोरना अमेरिकी विदेश मंत्री हिलरी क्लिंटन को खूब आता है। कब कितना मुस्कुराना है, कब खिलखिलाना है, और किस बात का क्या जवाब देना है, वे खूब जानती हैं। इसलिए अपनी ताज यात्रा के दौरान जब तक वे मुंबई में थीं तब तक यही लग रहा था कि वे भारत किसी गंभीर काम के लिए कम, सघन जनसंपर्क के लिए अधिक आई हैं। वैसे भारत में अभी तक ओबामा सरकार की जो छवि बनी है, उसमें अमेरिका को एक जनसंपर्क की जरूरत थी भी। लेकिन जब वे दिल्ली आईं, तो लगा कि उनके एजेंडे में प्रचार के अलावा भी कई और ‘प’ हैं। सबसे पहला मसला पाकिस्तान का था और शुरू से आखिर तक हिलरी यह सफाई देती दिखीं कि पाकिस्तान आतंकवाद को खत्म करने पर गंभीर है। जाहिर है कि ऐसा कहते हुए वे पाकिस्तान को अमेरिका से लगातार मिल रहे महत्व पर सफाई भी दे रही थीं। हो सकता है कि यह उन्हें भी पता हो कि भारत के लोग उनकी इस सफाई से ज्यादा इत्तेफाक नहीं रखेंगे। दूसरा ‘प’ पर्यावरण का था और जब ग्रीनहाउस गैसों में कमी लाने का मामला आया तो पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश यह कहने से नहीं चूके कि भारत इस मामले में किसी भी पाबंदी को स्वीकार नहीं कर सकता। लेकिन भारत अमेरिका के बीच असल ‘प’ परमाणु समझोते के भविष्य को लेकर है। परमाणु अप्रसार संधि पर ओबामा सरकार की जिद को लेकर इस समझोते के भविष्य पर प्रश्नचिन्ह लगाए जाने लगे थे। ओबामा प्रशासन ने इस पर अपना रवैया अभी नहीं बदला है, और हिलरी भी इस पर भारत को आगे जाकर राजी करने की बात कर रही हैं। लेकिन फिलहाल संतोष की बात यही है कि अमेरिका ने परमाणु समझोते पर अमल के लिए किसी तरह की बाधा नहीं खड़ी की है। उसने न सिर्फ तकनीकी और ईंधन देने के समझोते ही किए हैं, बल्कि भारत को इस ईंधन की रिप्रोसेसिंग की इजाजत भी दे दी है।

ऐसी किसी भी राजनयिक यात्रा के बाद एक स्वाभाविक सा सवाल यह पूछा जाता है कि यात्रा कितनी सफल रही या कितनी असफल। जवाब हमेशा ही जटिल होता है, हिलरी की ताज यात्रा भी इसका अपवाद नहीं है। परमाणु मुद्दे पर दोनों देशों ने जो तय किया उसे उपलब्धि माना जा सकता है लेकिन बुश प्रशासन से भारत ने जो परमाणु समझोता किया था, उसका अगला अध्याय तो यह होना ही था। हद से हद उपलब्धि यही है कि इस अध्याय को आने से रोका नहीं गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हिलरी का आना