अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चा मिलने से परिवार में खुशी का माहौल

कालकाजी से अपहृत दो वर्षीय रितविक के सकुशल मिलने पर उसके परिवार में जश्न का माहौल है। उसकी सलामती के लिए परिजन दिन-रात दुआएं कर रहे थे। परिजनों का कहना है कि भगवान की कृपा और पुलिस के सहयोग से ही उनका बच्चा नौकर के चंगुल से छूटा है। परिजन आगामी नौ अगस्त को उसका जन्मदिन धूमधाम के साथ मनाएंगे।


रितविक की मां रीतिका गत शनिवार से उसकी सलामती की दुआएं कर रही थीं। उसके लिए उन्होंने नजदीक के गुरुद्वारे में अखण्ड पाठ भी बैठाया था। उन्होंने बताया कि रितविक का नौ अगस्त को दूसरा जन्मदिन है, उसके अपहरण के बाद से पूरा परिवार संकट में आ गया था। रितविक के दादा विजय खेमका ने बताया कि घर में सभी उसे प्यार से किसना पुकराते हैं। अपहरण वाले दिन वह पशुपतिनाथ गए हुए थे और मामले की जानकारी मिलने पर वहां से रविवार को लौटे आए। उनका कहना है कि अब वे रितविक को अपने साथ लेकर पशुपतिनाथ के दर्शन करने जाएंगे। उन्होंने बताया कि नौकर श्रवण से रितविक को काफी लगाव था। वह घरवालों के पास न जाकर उसकी गोदी में ही रहता था।


रितविक के अपहरण के बाद परिजनों ने अनेक ज्योतिषियों से भी संपर्क किया था। किसी ने दो दिन तो किसी ने पांच दिन में बच्चा मिलने का उन्हें भरोसा दिलाया था। बच्चे के दादा सूर्य ग्रहण से पहले रितविक के मिलने को शुभ संकेत मानते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस ने बिहार जाकर उनके पोते को सकुशल मुक्त कराकर एक बार फिर से पुलिस और जनता के बीच विश्वास को और भी बढ़ा दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बच्चा मिलने से परिवार में खुशी का माहौल