अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2 अप्रैल से पढ़ाई पर किताबें मिलेंगी 14 अगस्त को

पढ़ाई शुरू हुआ 2 अप्रैल को पर छात्रों को किताबें देने का लक्ष्य है 14 अगस्त। सरकारी स्कूलों में शुरुआत के चार-पांच महीने छात्र कैसी पढ़ाई कर रहे हैं, इसका अंदाज लगाया जा सकता है। मात्र 64 फीसदी स्कूली छात्रों को ही अब तक किताबें मिल पायी है।

विधानसभा में मानव संसाधन विकास मंत्री हरिनारायण सिंह ने यह खुलासा किया है। माकपा के रामदेव वर्मा के तारांकित प्रश्न के जवाब में श्री सिंह ने माना कि राज्य सरकार पहली से लेकर आठवीं कक्षा तक के छात्रों को नि:शुल्क पुस्तकें उपलब्ध कराती है।

सर्व शिक्षा अभियान के तहत इस वर्ष कुल एक करोड़ 81 लाख 78 हजार 700 छात्रों को किताबें देनी है। पर अब तक एक करोड़ 16 लाख 95 हजार 392 छात्रों के लिए ही किताबें जिलों में भेजी गई है। 14 अगस्त तक सभी छात्रों को किताबें देने का लक्ष्य बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि पटना जिला में ज्यादा किताबें दी गईं है। यहां 7 लाख 13 हजार 2 छात्रों को किताबें देनी है जिसमें 6 लाख 82 हजार 838 छात्रों को किताबें दे दी गईं है। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राजद के शिवचन्द्र राम के प्रश्न पर कहा कि इस वर्ष नौवीं कक्षा में पढ़ाई कर रहे लड़कियों के साथ ही लड़कों को भी साईकिल देने का निर्णय किया गया है।

इस हिसाब से 8 लाख बच्चों को साईकिल देने का लक्ष्य है जिस पर 190 करोड़ रुपए खर्च होंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि वर्तमान में प्रति साईकिल छात्रों को 2000 रुपए दिया जाता है जिसको बढ़ाने की फिलहाल कोई योजना नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:2 अप्रैल से पढ़ाई पर किताबें मिलेंगी 14 अगस्त को