DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूर्यग्रहण : तरेगना में खगोलविदों और वैज्ञानिकों का जमावड़ा, सुरक्षा कड़ी

बिहार के मसौढ़ी अनुमंडल के तरेगना में 22 जुलाई को लंबे समय तक दिखने वाले सूर्यग्रहण का नजारा देखने और इसका अध्ययन करने के लिए देश-विदेश के खगोलविदों तथा वैज्ञानिकों का यहां पहुंचने का सिलसिला जारी है। इसके मद्देनजर प्रशासन ने यहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। सूर्यग्रहण को देखने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ अन्य हस्तियां भी तरेगना पहुंचेगी। 

पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आऱ मल्लार विज्जी ने मंगलवार को बताया कि चार स्तरीय सुरक्षा घेरे में पटना जिले में आने-जाने वालों की जांच की जा रही है, जबकि मसौढ़ी अनुमंडल की सुरक्षा के लिए 18 से अधिक प्रशासनिक पदाधिकारियों को तैनात किया गया है।

वैज्ञानिक तरेगना में नवनिर्मित अस्पताल भवन की छत से सूर्यग्रहण देखेंगे। इस कारण अस्पताल के आसपास बैरिकेड लगाए गए हैं। तरेगना में सुरक्षा व्यवस्था के लिए बिहार पुलिस के अलावा भी सुरक्षाबल लगाए गए हैं। तरेगना रेलवे स्टेशन पर भी आने-जाने वाले लोगों पर पैनी निगाह रखी जा रही है।

इधर, पटना के गांधी मैदान में भी सूर्यग्रहण देखने की विशेष व्यवस्था की गई है। गांधी मैदान में एक बड़े पर्दे पर छिद्र कर सोलर फिल्टर लगाए ज रहे हैं। 

पटना के तारामंडल के निदेशक अमिताभ घोष के मुताबिक कोलकता के बिड़ला तारामंडल के रिसर्च एंड एजुकेशन के निदेशक भी अपनी टीम के साथ पटना आएंगे। उन्होंने बताया कि तरेगना में सूर्यग्रहण देखने के लिए पोलैंड की एक टीम भी पहुंच चुकी है। इसके अलावा नैनीताल के आर्यभट्ट शोध संस्थान तथा दिल्ली के स्पेस सेंटर से वैज्ञानिकों का दल पटना पहुंच चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तरेगना में खगोलविदों और वैज्ञानिकों का जमावड़ा, सुरक्षा कड़ी