अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

बात-बात पर आईपीसी 498 ए  के दुरुपयोग का रोना रोने वाले जरा इस घटना का ब्योरा ध्यान से पढ़ लें! अट्ठाइस साल की दीपिका एक बड़ी कार कंपनी में काम करती थी। कोट-टाई पहनने वाले एक स्मार्ट आदमी से उसने लव मैरिज की थी। मरने से पहले उसने पुलिस को फोन पर कहा था कि फौरन आइए, मुझे जलाकर मारा जा रहा है।

लेकिन उसका रुतबा, उसका प्रेम, उसका समाज कुछ काम नहीं आया! पुलिस पहुंची तो उसकी जली हुई लाश ही मिली। दीपिका के भाई का कहना है कि शादी के बाद से ही उस पर दहेज का दबाव डाला जा रहा था। पूर्वी दिल्ली के चंद्रनगर इलाके की यह घटना सिर्फ एक बानगी है। दहेज कानून का दुरुपयोग होने की नहीं, उसका सदुपयोग न होने की!

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो टूक