DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलजीत एक सप्ताह तक डॉक्टरों की देखरेख में रहेंगे

बलजीत एक सप्ताह तक डॉक्टरों की देखरेख में रहेंगे

भारतीय हॉकी टीम के गोलकीपर बलजीत सिंह की आंखों का इलाज कर रहे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के डॉक्टरों के अनुसार इलाज के लिए उन्हें अभी एक सप्ताह तक अस्पताल में ही रहना होगा।

अस्पताल में नेत्र विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ घोष ने कहा कि बलजीत की आंखों को ठीक होने में अभी कुछ समय लगेगा। इसकेअलावा उन्होंने विशेषज्ञ सुंदरन खोखर की टीम द्वारा बलजीत की आंखों की सफल सर्जरी पर भी संतोष जाहिर किया। डॉ घोष ने एक घंटे तक बलजीत की आंखों की जांच की और साथ ही यह हिदायत भी दी कि गर्म और आर्द मौसम में किसी भी प्रकार केसंक्रमण से बचाने के लिए किसी भी बाहरी व्यक्ति को उनसे मिलने की इजाजत न दी जाए।

उन्होंने कहा कि बलजीत की आंखों का इलाज सही तरीके से चल रहा है। साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि संस्थान के डॉक्टरों के प्रयासों से बलजीत की आंख पूरी तरह से ठीक हो जाएगी।

खेलमंत्री एमएस गिल ने बलजीत से यहां एम्स में मुलाकात की और आंख में लगी चोट से उबरने में उनकी पूरी मदद करने का वादा किया। गिल ने बलजीत, उनके पिता और डॉक्टरों से मुलाकात की। पुणे में अभ्यास शिविर के दौरान आंख में गोल्फ की गेंद लगनेके बाद बलजीत का यहां पिछले सप्ताह ऑपरेशन हुआ था।

खेलमंत्री ने कहा कि हम बलजीत की इस चोट से उबरने में हरसंभव मदद करेंगे। जरूरत पड़ने पर इलाज के लिए उसे लंदन भी भेजा जा सकता है। हम उसके सारे मेडिकल खर्च वहन करेंगे। उन्होंने कहा कि इस तरह से उसका चोटिल होना दुर्भाग्यपूर्ण है। हादसों पर किसी का वश नहीं है लेकिन उसे पूरी तरह से ठीक होने में मदद करना हमारी जिम्मेदारी है।

उन्होंने कहा कि एम्स से उसे दस दिन के भीतर छुट्टी मिल जाएगी। उसके बाद उसे भारतीय खेल प्राधिकरण के अतिथि ग्रह में रखा जाएगा ताकि उसे मेडिकल सुविधाएं मिलती रहें चूंकि पंजाब में अपने गांव में वह पूरा इलाज नहीं करा पाएगा। हॉकी इंडिया के महासचिव मोहम्मद असलम खान ने भी एम्स पहुंच बलजीत का हाल-चाल पूछा।        

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बलजीत एक सप्ताह तक डॉक्टरों की देखरेख में रहेंगे