अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निर्माणाधीन शौचालय की टंकी बनी चार मजदूरों की कब्रगाह

अहियापुर थाना के शेखपुर मुहल्ले में सोमवार की सुबह निर्माणाधीन मकान की शौचालय टंकी का शटरिंग खोलने गये चार मजदूरों की मौत हो गई। साइट पर काम कर रहे दूसरे मजदूरों का कहना है कि टंकी के भीतर जमा पानी में करंट था। वहीं मौके पर पहुंचे थाना अध्यक्ष सुनील कुमार और नगर डीएसपी निर्मला कुमारी ने टंकी के भीतर गैस से दम घुटने के कारण मजदूरों के मरने की आशंका जतायी है।

वैसे पोस्टमार्टम के बाद सही कारण का पता चलेगा। घटना के प्रत्यक्षदर्शी व मृत सुरेन्द्र साह के भाई मनोज साह के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। बताया गया है कि शेखपुर मुहल्ले में हाजीपुर के मूल निवासी गिरीश शुक्ला के नये मकान के निर्माण का ठेका अहियापुर के मो. इस्लाम ने ले रखा था। प्रत्यक्षदर्शी मजदूर महेश साह ने बताया कि ठेकेदार व बोचहां सनाठी के मजदूर राजेश राय शटरिंग खोलने बंद टंकी का ठक्कन हटाकर नीचे उतरे। करीब बारह फीट गहरी टंकी में कमरभर पानी था।

टंकी में उतरते ही मो. इस्लाम व राजेश छटपटाने लगे। उन्हें बचाने के लिए ठेकेदार का बेटा मो. इरशाद उर्फ गुड्ड नीचे उतरा तो वह भी टंकी में फंस गया। सारा नजारा देख रहे अलीपुर नेउरा मोतहां के मजदूर सुरेन्द्र साह ने हल्ला किया तो महेश व मनोज आये। उस बीच सुरेन्द्र ने टंकी के भीतरी बल्ला पर पांव रखकर गुड्ड को खींचने का प्रयास किया जिससे वह भी नीचे गिर गया।

चारों को टंकी में छटपटाता देख महेश राय व मनोज भागकर बगल के साइट पर काम कर रहे ठेकेदार के साला शिबली को बुलाने गये। दूसरे साइट के मजदूर आकर टंकी के भीतर फंसे लोगों को बचाने का प्रयास करते तबतक सबकुछ समाप्त हो चुका था। महेश ने बताया कि टंकी के पास जाने पर उसका भी पांव झुनझुनाने लगा।

मजदूरों का कहना है कि निर्माणाधीन मकान के बगल वाले मकान की अर्थिग की तार टंकी के बगल में ही गिरी हुई थी जिससे टंकी में करंट आया। अहियापुर थाना अध्यक्ष सुनील कुमार पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। शिबली ने बताया कि गिरीश शुक्ला हाजीपुर में रहते है उनके बहनोई के माध्यम से काम होता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शौचालय की टंकी बनी चार मजदूरों की कब्रगाह