अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मदरबोर्ड

मदरबोर्ड इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम जसे लैपटॉप, कंप्यूटर में सेंट्रल प्रिटेंड सíकट बोर्ड होता है। इसे मेन बोर्ड और सिस्टम बोर्ड के नाम से भी जाना जाता है। कंप्यूटर के अलावा मदरबोर्ड का इस्तेमाल रोबोट और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसों में किया जाता है। सामान्यत: एक कंप्यूटर की रचना माइक्रोप्रोसेसर, मेन मेमोरी और मदरबोर्ड में लगे कंपोनेंट के द्वारा ही होती है। इसके साथ ही उसमें स्टोरेज, वीडियो डिस्प्ले और साउंड को नियंत्रित करने के लिए कंट्रोलर्स और कुछ और डिवाइस एज कनेक्टर के द्वारा मदरबोर्ड से जुड़ी होती है।

क्या होता हैं मदरबोर्ड में : इसका सबसे मुख्य पार्ट चिपसेट होता है। चिप की सहायता से ही मदरबोर्ड की क्षमता और फीचर के बारे में अंदाज लगाया जाता है। मदरबोर्ड में मुख्यत: सीपीयू, बायोस, मेमोरी स्टोरेज, सीरियल पोर्ट और की-बोर्ड और डिस्क ड्राइव के लिए कंट्रोलर होते हैं। ऐसा माना जता है कि मॉडर्न मदरबोर्ड में कम से कम एक सॉकेट या स्लॉट होना चाहिए, जिसमें एक या उससे ज्यादा माइक्रोप्रोसेसर इंस्टाल किए जा सकें। साथ ही उसमें क्लॉक जेनरेटर, एक चिपसेट, एक्सपेंशन कार्ड के लिए स्लॉट, पावर कनेक्टर्स होते हैं।

इतिहास : शुरुआत में कंप्यूटर में प्रत्येक पार्ट के लिए एक स्लॉट हुआ करता था और तारों के द्वारा पार्ट एक दूसरे से जुड़े रहते थे। बाद में प्रिंटेड सíकट बोर्ड के आने के बाद मेमोरी, सीपीयू और अन्य डिवाइस इसमें लगाई जने लगीं। 1980 के दशक में मदरबोर्ड में इंट्रीग्रेटेड सíकट का इस्तेमाल किया जता था। 1990 में मदरबोर्ड फुल रेंज के ऑडियो, वीडियो को सपोर्ट करने लगे। उसमें पार्ट लगाने के लिए कार्ड भी नहीं लगाना पड़ता था

(पाठकों की मांग पर)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मदरबोर्ड