अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीलिंग को लेकर नए विवाद की आशंका

सीलिंग को लेकर नगर निगम व व्यापारियों में नए विवाद की आंशका बढ़ गई है। नगर निगमायुक्त सीआर राणा के कहने पर व्यापारी चेंज आफ लेंड यूज (सीएलयू) का फार्म भरने को राजी तो हो गए, मगर सीएलयू की फीस आठ हजर रुपये प्रति वर्ग गज से 270 रुपये प्रति वर्ग गज करवाने की मांग पर अड़ गए हैं। इसके लिए व्यापारियों ने 15 दिन का समय दिया है। मांग पूरी न होने पर व्यापारी शहर की मार्केट बंद करवाकर निगम मुख्यालय पर भूख हड़ताल पर बैठेंगे।


सोमवार को सीलिंग के दौरान नगर निगम के दस्ते व व्यापारियों में हुए टकराव से स्थिति काफी संवेदनशील हो गई थी। निगमायुक्त के मौके पर पहुंचने के बाद व्यापारियों ने जाम खोला। निगमायुक्त ने कहा कि सीएलयू का फार्म भरने वाले व्यापारियों की दुकानों को सील नहीं किया जाएगा। व्यापारी इस बात पर राजी तो हो गए। मगर व्यापारियों ने सीएलयू की फीस कम करने की शर्त लगा दी। व्यापार मंडल के प्रधान जगदीश भाटिया ने बताया कि 1991 में सीएलयू की फीस 270 रुपये प्रति वर्ग गज थी। इसी रेट पर आज सीलएयू किया जाए। निगम फिलहाल 270 की जगह आठ हजार रुपये फीस वसूल रहा है। जो काफी ज्यादा है। व्यापारियों का कहना है कि 15 दिन तक फीस कम करने का समय सरकार को दिया गया है। फीस कम नहीं हुई तो फिर निगम मुख्यालय पर व्यापारी भूख हड़ताल पर बैठेंगे। शहर की समूची मार्केट बंद करवा दी जाएंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीलिंग को लेकर नए विवाद की आशंका