अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंटरटेंमेंट टैक्स नहीं भरने वाली डीटीएच कंपनियां होगीं सील

इंटरटेंमेंट टैक्स नहीं भरने वाले डीटीएच (डायरेक्ट टू होम) कंपनियों की अब खैर नहीं.। जिला मनोरंजन कर विभाग ने एक सप्ताह का अल्टीमेटम देकर टैक्स नहीं भरने अथवा इस संबंध में किसी तरह की जानकारी देने से कनी काटने वाली डीटीएच कंपनियों को सील करने का फरमान जारी कर दिया है।


मनोरंजन कर विभाग के ऐसे तुगलकी फरमान से डीटीएच कंपनियां सकते हैं। सहायक मनोरंजन कर आयुक्त डी पी पटेल के अनुसार शासनादेश के बावजूद डीटीएच कंपनियां टैक्स भरने से आनाकानी कर रही हैं। शासनादेश को ठेंगा दिखाने का परवान इस कदर चढ़ा है कि टैक्स असेस(टैक्स की राशि) के लिए डीटीएच कंपनियां विभाग को सही-सही जानकारी भी दे रही है। यहीं कारण है कि डिश, रिलायंस बिग टीवी, टाटा स्काई जैसी डीटीएच कंपनियों के टैक्स की रकम तय नहीं की जा सकी। भारती टेली मीडिया लिमिटेड डीटीएच (एयरटेल) और सन टीवी द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार इन दोनों पर क्रमश: 31 लाख 98 हजार और 10 लाख 58 हजार का  टैक्स बकाया है। एयरटेल के पूरे नोएडा-ग्रेटर नोएडा में 5 हजार 529 कनेक्शन हैं। यह कंपनी जुलाई,2008 से डीटीएच सेवा उपलब्ध करा रही है। उसी तरह सन टीवी के कुल 2 हजार 641 कनेक्शन हैं। नवम्बर,2009 से 30 जून तक कंपनी पर 10 लाख 58 हजार का टैक्स बकाया है। डीटीएच कंपनियों को बकाए टैक्स की वसूली के लिए यूपी एंटरटेंमेंट एंड बेटिंग में संशोघित अध्यादेश का हवाला दिया गया है। यूपी एंटरटेंमेंट एंड बेटिंग में संशोधित कर 16 जून को एक अध्यादेश जारी किया गया था। अध्यादेश के तहत डीटीएच सेवा को एंटरटेंमेंट टैक्स के दायरे में शामिल कर दिया गया है। इससे नोएडा-ग्रेटर नोएडा में डीटीएच कंपनियों को 30 फीसदी के हिसाब से इंटरटेंमेंट टैक्स जमा कराने के आदेश जारी किए गए हैं।  शासनादेश के मद्देनजर बीते सप्ताह ही डीएम की ओर से डिश टीवी, टाटा स्काई,एयरटेल,बिग टीवी,सन टीवी  आदि को नोटिस जारी कर दिया गया था। लेकिन डीटीएच कंपनियों ने इसे ठेंगा दिखाकर अभी इंटरटेंमेंट टैक्स का भुगतान नहीं किया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंटरटेंमेंट टैक्स नहीं भरने वाली डीटीएच कंपनियां होगीं सील