DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओबरा तापघर की सभी इकाइयां ठप

220 केवी पारेषण लाइन पर पड़े जर्क की वजह से 24 घंटे के अन्तराल पर ओबरा तापीय परियोजना के ताप घर की सभी इकाइयां बंद हो गयीं। तापघर से उत्पादन ठप होने के कारण प्रदेश का ऊर्जा संकट पुन: गहरा गया। प्रदेश में विद्युत कमी का आकड़ा तीन हजार मेगावाट से ज्यादा होने के कारण ताबड़तोड़ बिजली कटौतियां शुरू कर दी गयी हैं।

समाचार लिखे जाने तक100 मेगावाट वाली छठी इकाई को चालू कर दिया गया था। सम्भावना है कि देर रात तक बाकी इकाइयों को भी चालू कर दिया जायेगा। प्राप्त समाचार के अनुसार, लगातार हो रही वारिश के बीच शाम चार से पांच बजे के बीच ओबरा तापीय परियोजना के  तापघर एवं ब तापघर को जोड़ने वाली पारेषण लाइन पर जर्क पड़ा, जिसके कारण बसवार के निकलने से स्टेशन सप्लाई फेल हो गयी, जिससे  तापघर की चालू इकाइयां बंद हो गई।

इससे परियोजना का उत्पादन 454 मेगावाट तक लुढ़क कर आ गया। समाचार लिखे जाने तक ओबरा तापीय परियोजना की तापघर की 200 मेगावाट वाली इकाइयों से उत्पादन जारी था। उधर तापघर के महाप्रबन्धक ई. जेड आलम ने बताया कि 220 केवी लाइन पर जर्क पड़ने के कारण इकाइयां बंद हुई। उन्होंने बताया कि 100 मेगावाट वाली छठवीं इकाई को लाइटअप कर दिया गया है। बाकी बंद इकाइयों को देर रात तक चालू कर दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि बरसात के समय में पारेषण लाइनों पर जर्क पड़ना पारम्परिक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ओबरा तापघर की सभी इकाइयां ठप