अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईसीसी के इतिहास सम्मेलन में वक्ता होंगे गांगुली

आईसीसी के इतिहास सम्मेलन में वक्ता होंगे गांगुली

सौरव गांगुली और बिशन सिंह बेदी सहित पूर्व क्रिकेटर एंगस फ्रेजर, क्लाइव लायड और बॉब विलिस इस हफ्ते आक्सफोर्ड में आईसीसी के इतिहास सम्मेलन में आकलन करेंगे कि खेल में इसकी शुरुआत के बाद कैसे परिवर्तन आया है।

आईसीसी के सहस्त्राबदी जश्न के हिस्से के तौर पर बुधवार और गुरुवार को होने वाले सम्मेलन में शीर्ष प्रशासक, विद्वान, इतिहासविद और सांख्यिकीविद इकट्ठे होंगे और खेल के पिछले सौ साल के इतिहास पर रोशनी डालेंगे।

आईसीसी अध्यक्ष डेविड मोर्गन ने एक बयान में कहा कि आईसीसी के सहस्त्राबदी वर्ष का एक अहम हिस्सा परंपरा है, वर्ष 2009 काइस्तेमाल खेल के समद्ध इतिहास पर नजर डालने का एक मौका है। इतिहास सम्मेलन शायद एक बेहतरीन अवसर होगा। आईसीसी के पूर्व अध्यक्ष एहसान मनी और संगठन के पहले मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड रिचडर्स उन बड़े मुद्दों पर प्रकाश डालेंगे जिनसे उन्हें अपने कार्यकाल के दौरान निपटना पड़ा।

आईसीसी ने इंपीरियल क्रिकेट कांफ्रेंस के रूप 1909 में शुरुआत की थी और तब इसके सिर्फ तीन सदस्य (आस्ट्रेलिया, इंग्लैंडऔर दक्षिण अफ्रीका) थे। एक शताब्दी बाद इसके 104 सदस्य हैं और 100 बरस में इसके विकास पर कई विशेषज्ञ रोशनी डालेंगे जिसमें वेस्टइंडीज विश्वविद्यालय के प्रो वाइस चांसलर और प्रिंसिपल और प्रोफेसर ऑफ इकोनामिक्स सर हिलेरी बेकलस तथा आस्ट्रेलिया के ला ट्रोब विश्वविद्यालय के पूर्व वाइस चांसलर ब्रायन स्टोडार्ट शामिल हैं।

अतीत और वर्तमान के महिला क्रिकेट का प्रतिनिधित्व 1973 में पहला महिला वर्ल्ड कप जीतने वाली इंग्लैंड की कप्तान रैशेलहेहोई फ्लिंट और मौजूद कप्तान चार्लोट एडवडर्स और उनकी साथी इबोनी रेनफोर्ड ब्रेंट करेंगी। ये दोनों आईसीसी महिला वर्ल्ड कप, टी 20 वर्ल्ड कप और एशेज जीतने वाली टीम की सदस्य हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईसीसी के इतिहास सम्मेलन में वक्ता होंगे गांगुली