अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मातृभाषा अंगिका को राजकीय दर्जा के लिए पदयात्रा

मातृभाषा अंगिका और साहित्य को राजकीय दर्जा दिलाने के लिए रविवार को अंग उत्थान आंदोलन समिति के सदस्य भागलपुर से पैदल यात्रा कर पटना पहुंचे। समिति के गौतम एवं जलज के नेतृत्व में पदयात्रा में शामिल 25 लोग शामिल थे।

पदयात्रा में शामिल पदयात्रियों ने कहा कि सरकार अंगिका भाषा के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। पटना पहुंचने पर रविवार को विभिन्न अंगिका संस्थान की ओर से इनका स्वागत किया गया। डॉ. नरेश पांडेय चकोर, श्रीकांत प्रकाश, आदित्य प्रकाश सिंह ने स्वागत किया। यात्रा में शामिल लोग अपनी मांगों का ज्ञापन राज्यपाल को सौंपेगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मातृभाषा अंगिका को राजकीय दर्जा के लिए पदयात्रा