DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लाभदायक उपक्रमों का निजीकरण नहीं: सरकार

सरकार ने कहा है कि लाभ कमा रहे सार्वजनिक उपक्रमों का निजीकरण नहीं किया जाएगा।

लोक उपक्रम विभाग के सचिव आर बनर्जी ने एक सम्मेलन में कहा कि लाभ दे रहे सार्वजनिक उपक्रमों का निजीकरण नहीं किया जाएगा। उन्होंने साथ साथ यह भी कहा कि निजीकरण का अर्थ होता है सरकारी भागीदारी को 51 प्रतिशत से नीचे लाना।

इंडियन चैम्बर ऑफ कामर्स द्वारा आयोजित इस सम्मेलन में बनर्जी ने कहा कि अच्छा काम कर रहे कुछ सार्वजनिक उपक्रमों को महारत्न की श्रेणी में रख कर उन्हें व्यावसायिक और प्रबंधकीय मामलों में पूर्ण स्वायत्तता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि कम से कम तीन उपक्रम महारत्न की कोटि में स्थान पा सकते हैं।

बनर्जी ने कहा कि यह सरकार की 100 दिन की कार्ययोजना का हिस्सा है और इसके लिए विभिन्न मंत्रालयों की राय आमंत्रित की गई। देश में कुल 242 केंद्रीय सार्वजनिक उपक्रमों में 18 को नवरत्न और 54 को मिनी रत्न का दर्जा मिला है। देश के सकल घरेलू उत्पाद में सार्वजनिक उपक्रमों का योगदान करीब आठ प्रतिशत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लाभदायक उपक्रमों का निजीकरण नहीं: सरकार