DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किश्त मांगने पहुंचे युवक की हत्या के मामले में उम्र कैद

मदनपुरी में टीवी की किश्त लेने पहुंचे युवक की बिजली तार से गला घोंट कर हत्या करने के मामले में आरोपी को फास्ट ट्रैक कोर्ट ने शनिवार को उम्र कैद व पांच हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना अदा ना करने पर दोषी को दो साल अलग से भुगतनी होगी।  वर्ष 2007 में न्यू कालोनी निवासी पवन कुमार ने मदनपुरी में किराए के लिए एक मकान बनाया हुआ था। इसमें बिजनोर निवासी रवि, कपिल, छोटू व दिनेश रहते थे। रात के समय रवि मकान मालिक पवन के पास पहुंचा और बताया कि मकान के सामने एक व्यक्ति का शव पड़ा हुआ है। पवन मौके पर पहुंचा और पुलिस को मामले की जानकारी दी थी। पुलिस मौके पर पहुंची थी और शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी थी।

मृतक की पहचान बरेली निवासी हसीन मियां के रूप में हुई थी। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि हसीन मियां एक इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी में बतौर एक्जीक्यूटिव कार्यरत था। पवन के मकान में किराए पर रहने वाले कपिल, छोटू व दिनेश ने उससे किश्तो पर टीवी खरीदी थी। हसीन मियां रोजाना शाम को उनसे टीवी की किश्त लेने पहुंच जाया करता था, जिससे वे परेशान हो गए थे।

एक दिन शाम को तीनों ने मिल कर हसीन मियां को रास्ते से हटाने का फैसला लिया। एक दिन उसे किसी बहाने से बुलाने के बाद  कपिल, छोटू व दिनेश ने हसीन मियां की गला घोट कर हत्या कर दी और शव को वहीं पर छोड़ फरार हो गए थे। पुलिस ने तीनों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर तीनों आरोपियों को घटना के कुछ ही दिनों बाद उत्तर प्रदेश के बिजनोर जिले से गिरफ्तार कर लिया था।

किशोर होने की वजह से छोटू व दिनेश का मामला ज्यूविनायल कोर्ट में चल रहा है, जबकि कपिल का केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चल रहा था। एफटीसी के जज बीएल सिंघल ने कपिल को हसीन मियां की हत्या का दोषी करार देते हुए उसे उम्र कैद सहित पांच हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई। जुर्माना अदा न करने पर दोषी को दो साल की अतिरिक्त जेल भुगतनी पड़ेगी। जबकि हसीन मियां की हत्या में आरोपी छोटू व दिनेश किशोर है तथा उनका मामला अभी भी किशोर कोर्ट में चल रहा है। 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:युवक की हत्या के मामले में उम्र कैद