अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रशासनिक पदों से शिक्षकों को हटाने की मांग पर कर्मचारियों ने बढ़ाया दबाव

कई दिनों बाद कुलपति के परिसर में लौटते ही कर्मचारी संघ ने अपना तेवर दिखाया। प्रशासनिक पदों से शिक्षकों को हटाने की मांग के पर दबाव बढ़ाने के लिए मूल्यांकन कार्य ठप करा दिया। केंद्रीय कार्यालय को बंद कर धरना दिया। कर्मचारी संघ का कहना है कि परीक्षा के पहले ही यह मुद्दा उठाया गया था, लेकिन छात्र हितों को देखते हुए हड़ताल स्थगित कर दी गई थी।

विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा लगातार अध्यापकों को कार्यालयी कार्य में लगाया जा रहा है, जो शासनादेश के विपरीत है। संघ का कहना है कि अध्यापकों की अदूरदर्शिता के कारण कई केंद्रों पर परीक्षा नहीं हो सकी। इसकी जिम्मेदारी तय होनी चाहिए।

विश्वविद्यालय के  दो हजार छात्रों का परीक्षाफल घोषित किया गया है, जिनमें अधिकांश परीक्षाफल अपूर्ण हैं। दूसरी ओर, विश्वविद्यालय प्रशासन ने कर्मचारी संघ को 4 बजे वार्ता के लिए आमंत्रित किया। इस पर संघ का कहना था कि पूर्व में दिए गए मांगपत्र पर कोई निर्णय हो जाएगा, तभी कोई वार्ता

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संस्कृत विवि में फिर ठप मूल्यांकन कार्य