DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएचयू में मरीज की मौत पर परिजनों का हंगामा

बीएचयू सर सुन्दरलाल चिकित्सालय में शनिवार को मरीज की मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया। मामला सुरक्षाकर्मी के साथ हाथापाई तक पहुंच गई। बाद में पुलिस के हस्तक्षेप करने पर मामला शांत हुआ।
आजमगढ़ जिले की मुनेश्वरी देवी (70 वर्ष) को पेट में सूजन की शिकायत थी।

आजमगढ़ सदर अस्पताल ने उसे बीएचयू रेफर किया था। शुक्रवार की रात वह इमरजेंसी में भर्ती हुई, जहां चिकित्सकों ने उपचार किया। शनिवार को उसे इमरजेंसी से सजर्री विभाग की ओपीडी के लिए रेफर कर दिया गया। परिजन मरीज को स्ट्रेचर पर लादे इस विभाग से उस विभाग डाक्टर की तलाश में दौड़ रहे थे। इसी बीच, मुनेश्वरी की तबीयत बिगड़ने लगी।

बेटी कुसुम उसे लेकर आपात सेवा कक्ष पहुंचती, उसके पहले ही मुनेश्वरी ने दम तोड़ दिया। मृतका के बड़े बेटे प्रभाकर पाण्डेय, जो सस्पेंडेड पुलिसकर्मी हैं, इस घटना के बाद आपे से बाहर हो गये। उन्होंने न सिर्फ चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाया, बल्कि डच्यूटीरत सुरक्षाकर्मी से हाथापाई भी की। थोड़ी देर में प्रभाकर के दो अन्य भाई सुधाकर व रविन्दर भी बाहर से पहुंच गए। मामला तूल पकड़ने लगा। लंका पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मामला किसी तरह शांत हुआ और परिजन शव को लेकर चले गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीएचयू में मरीज की मौत पर परिजनों का हंगामा