अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कौमार्य परीक्षण की शिकायत करने वाली युवती पलटी

कौमार्य परीक्षण की शिकायत करने वाली युवती पलटी

कौमार्य परीक्षण को लेकर तीन शासकीय प्रधिकारियों के विरुद्ध आदिम जाति कल्याण थाना में शिकायत दर्ज कराने वाली दो आदिवासी युवतियों सरोज बैगा और आरती बैगा में से एक सरोज बैगा ने शपथ पत्र प्रस्तुत कर अपनी शिकायत को झूठा बताया है।

नगरपालिका सभाकक्ष में भाजपा के पूर्व विधायक लल्लू सिंह, भाजपा की नगरपालिका अध्यक्ष सत्यभमा गुप्ता, उपाध्यक्ष प्रवीण शर्मा आदि की उपस्थिति में पत्रकारों से चर्चा करते हुए सरोज बैगा ने कहा कि उसने थाने में जो शिकायत की थी। उस शिकायत पर क्या लिखा था। उसे जनकारी नही है क्योंकि वह पढ़ी-लिखी नहीं है।

पत्रकारों ने सरोज बैगा से पूछा कि वह अब जो दूसरा शपथ दे रही है उसमें क्या लिखा है। उसे पता है तो सरोज बैगा ने कहा कि इस संबंध में भी उसे कुछ नहीं मालूम। उसने तो सिर्फ अंगूठा लगा दिया है। यह पूछे जाने पर कि पहले शपथ पत्र पर उससे अंगूठा किसने लगवाया तो सरोज ने बताया कि उसके ग्राम पंचायत गोश्तश का सचिव हेमदाज उसके पास आया था जिसके कहने पर उसने अंगूठा लगाया था।

पत्रकारों ने जब सरोज बैगा के समक्ष सवालों की झड़ी लगा दी तब पूर्व विधायक लल्लू सिंह और नगरपालिका अध्यक्ष सत्यभामा गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री कन्यादान योजना को बदनाम करने की साजिश के तहत एक सीधी-सादी ग्रामीण महिला का उपयोग गौश्तश गांव के एक प्रभावशाली कांग्रेस नेता ने किया है। उन्होंने कहा कि कौमार्य परीक्षण जैसा कुछ हुआ ही नहीं। यह महज अफवाह और षड़यंत्र है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कौमार्य परीक्षण की शिकायत करने वाली युवती पलटी