अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक की मजबूती का आधार हैं सेना व आईएसआई

पाक की मजबूती का आधार हैं सेना व आईएसआई

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने कहा है कि जब तक पाकिस्तान में आईएसआई और सशस्त्र बल हैं तब तक देश में कुछ भी गलत नहीं हो सकता। करण थापर के डेविल्स एडवोकेट कार्यक्रम में मुशर्रफ ने जोर देते हुए कहा कि जब तक वहां सशस्त्र बल हैं तब तक पाकिस्तान की अखंडता को नुकसान नहीं पहुंच सकता। उन्होंने कहा, पाकिस्तान तथा तालिबान, आतंकवादियों और अलकायदा की दृष्टि से सबसे बड़ी क्षति तब है जब आप आईएसआई और पाकिस्तानी सेना को महत्वहीन करते हैं।

यह पूछे जाने पर कि तालिबान के संबंध में पाश्चात्य जगत और भारत की चिंताएं जरूरत से ज्यादा हैं, इस बारे में काफी बढ़ा-चढ़ाकर कहा जा रहा है। ऐसा लगता है मानो वे पाकिस्तान पर कब्जा कर लेंगे। कैसे वे पाकिस्तान पर कब्जा कर लेंगे। या तो बल के जरिए जिसका मतलब है कि वे पाकिस्तानी सेना को पराजित करने जा रहे हैं या राजनैतिक तरीके से जिसका मतलब है कि वे अगला चुनाव जीतने जा रहे हैं। इनमें से दोनों बातें संभव नहीं हैं।

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि वह अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की अफगान-पाक नीति से सहमत नहीं हैं। उन्होंने कहा, क्योंकि हमें अफगानिस्तान के साथ रखा जा रहा है। अफगानिस्तान में बमुश्किल कोई सरकार है। यह हमारे नियंत्रण से बाहर है। और मैं यह भी जोड़ सकता हूं कि वहां आतंकवाद और उग्रवाद में भारत का संबंध है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाक की मजबूती का आधार हैं सेना व आईएसआई