DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांवड़िए नियमों को दिखा रहे ठेंगा

गंगोत्री व गोमुख जल भरने पहुंच रहे कांवड़िए लाउडस्पीकर के हो-हल्ला से पहाड़ की शांत वादियों में ध्वनि प्रदूषण फैला रहे हैं। जबकि मार्ग पर पैदल, दुपहिया व चार पहिया में चल रहे कांवड़िए दुर्घटनाओं को खुला आमंत्रण दे रहे हैं।


भोले के नाम पर कांवड़ियों के लिए पुलिस-प्रशासन के कायदे-कानून माफ चल रहे हैं। क्षमता से अधिक लोगों को नियम विरुद्ध ट्रक में भर कर पहाड़ी रास्तों पर आने, प्रतिबंध के बावजूद डीजे सिस्टम चलाने, दुपहिया वाहन में हॉकी व लाठी के साथ तीन-तीन लोग सवार होने, राह चल रहे आम लोगों के साथ अभद्रता करने में कांवड़िए उतारु हो रखे हैं। एक सप्ताह से जिस प्रकार से कांवड़िए झुंड बना कर पहुंच रहे हैं, उससे पुलिस प्रशासन की सुरक्षा व्यवस्था भी नाकाफी नजर आ रही है। गंगोत्री के अलावा सैकड़ों की संख्या में गोमुख तक पहुंच रहे कांवड़ियों ने ग्लेशियर व गोमुख क्षेत्र के पर्यावरण को खूब नुकसान पहुंचाया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक मुख्तार मोहसिन ने बताया कि कांवड़ियों को ट्रक व शिविर स्थल पर ध्वनि यंत्र लगाने की अनुमति नहीं है। उन्होंने कोतवाली समेत मार्ग पर पड़ने वाली चौकी व थानों को इस संबंध में कार्यवाही के निर्देश देने की बात कही। इधर भटवाड़ी रोड़ में शुक्रवार को डीजे बज कर हो-हल्ला कर रहे कांवड़ियों को थानाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट ने चेतावनी के साथ छोड़ दिया। उन्होंने वाहन में लगे स्पीकर व साउंड सिस्टम उतार कर चेतावनी दी कि यदि वाहनों में ध्वनि प्रदूषण यंत्र लगाए गए तो सीधी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांवड़िए नियमों को दिखा रहे ठेंगा