अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

11 महीने की बच्ची का ट्रीटमेंट बना के लिए सिरदर्द

साइबर सिटी में अब तक कुल 72 सेंपल्स की जांच में 11 लोग पाजीटिव पाए गए हैं। यह तादाद कॉटेंक्ट्स में काफी तेजी से बढ़ रहा है। हालांकि, डॉक्टरों के मुताबिक इन्हं नियंत्रित किया जा सकता है। पाजीटिव मामलों में सबसे कम आयु यानि 11 महीने की बच्ची का ट्रीटमेंट(कीमोपोलाइसिस)करना अब स्वास्थ्य विभाग के लिए भी सिरदर्दी बनने लगा है। व्यस्कों को गोलियां और कैप्सूल्स के जरिये ट्रीट किया जा रहा है, लेकिन इस बच्ची के लिए विभाग ने प्रदेश सरकार से आग्रह किया है।


स्वाइन फ्लू के अब तक कुल 11 पाजीटिव मामले पाए गए हैं, जिनमें अमेरिका, ब्रिटेन सहित दुनिया के अन्य देशों से आए लोग शामिल थे। इनमें उनके साथ रहने वाले, यानि कांटेक्ट्स की संख्या तेज गति से बढ़ती जा रही है। आरएमएल से दो मामलों की पुष्टि किए जाने के बाद बच्ची घर पर ही है, लेकिन इलाज में देरी शायद उसके लिए भी परेशानी का सबब बन जए। इस बारे में पीएमओ डॉ्. खजन सिंह का कहना है कि सभी पाजीटिव मरीजों का इलाज चल रहा है। उन्होंने सफाई का ध्यान रखने सहित पीड़ितों से कम से कम छह मीटर की दूरी से बात करने की सलाह दी है। उधर, बढ़ती तादाद के मद्देनजर शुक्रवार को सात और सैंपलों को जांच के लिए नेशनल इंस्टीटच्यूट ऑफ कम्यूनिकेबल डिसीजेज(एनआईसीडी )भेजा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:11 महीने की बच्ची का ट्रीटमेंट बना के लिए सिरदर्द