अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुधारों की संभावना से शेयर बाजारों की उड़ान

सुधारों की संभावना से शेयर बाजारों की उड़ान

सरकार के वित्तीय सुधारों को आगे बढाने की संभावना और विदेशी कंपनियों के बेहतर परिणामों की उम्मीदों के बीच विदेशी संस्थागत निवेशकों की लिवाली से मुंबई शेयर बाजार के सूचकांक सेंसेक्स ने 494 अंक की उड़ान भरी और राष्ट्रीय शेयर बाजार का निफ्टी 143 अंक छलांग लगाकर बंद हुआ।

सरकार ने कहा है कि बैंकिंग क्षेत्र में सुधार के लिए शीघ्र दो विधेयक पेश किए जाएंगे। इससे निवेशकों को वित्तीय बाजार पर भरोसा बढ़ा। बजट में सरकार ने वित्तीय सुधारों के संबंध में साफतौर पर कुछ नहीं कहा था। जिससे शेयर बाजारों की हालत डावांडोल चल रही थी। इस बीच अमेरिका और यूरोप में कंपनियों के तिमाही परिणाम बेहतर रहे है। अमेरिका में जेपी मोर्गन ने शानदार मुनाफा दर्ज किया जबकि बैंक ऑफ अमेरिका तथा सिटी ग्रुप के नतीजें भी बेहतर आने की उम्मीद है।

बीएसई संसेक्स में कारोबार सुबह 75.23 अंक की मजबूती के साथ 14325.58 अंक पर शुरू हुआ। बाद में इसने लगातार बढ़त बनाते हुए 14800.70 अंक के ऊंचे स्तर को छुआ। सेंसेक्स का कारोबार में शुरुआती स्तर उसका निचला स्तर बना रहा। कारोबार के अंत में यह 494.67 अंक अर्थात 3.47 प्रतिशत की छलांग लगाकर 14744.92 अंक पर बंद हुआ। पिछले कारोबारी दिवस में यह 14250.25 अंक पर रहा था।

एनएसई में निफ्टी का कारोबार सुबह 4231.45 अंक के स्थिरता के साथ शुरू हुआ। कारोबार के दौरान यह 4390.40 अंक ऊंचे में और 4230.15 अंक नीचे में दर्ज किया गया। हालांकि कारोबार के अंत में निफ्टी 143.55 अंक अर्थात 3.39 प्रतिशत के साथ 4374.93 अंक पर बंद हुआ। पिछले कारोबारी दिवस में यह 4231.40 अंक पर रहा था।

बीएसई में कारोबार के दौरान आटो, बैंकिंग, आईटी और टेक वर्ग की कंपनियों के शेयरों में जमकर लिवाली की गई। कारोबार के दौरान कुल 2739 कंपनियों में कामकाज हुआ जिसमें से 1832 लाभ में और 825 नुकसान में रही। हालांकि 82 कंपनियों के शेयरों में कोई परिवर्तन नहीं देखा गया।

अमेरिकी वित्तीय और बैंकिंग कंपनियों के नतीजे बेहतर होने के कारण विदेशी बाजार में तेजी का रुख रहा। ब्रिटेन का एफटीएसई 0.7 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसैंग 2.4 प्रतिशत, आस्ट्रेलिया का आस्सी 0.1 प्रतिशत, चीन का शंघाई कंपोजिट 0.2 प्रतिशत और जापान का निक्की 0.6 प्रतिशत की ऊंचाई पर दर्ज किया गया।


बीएसई में मिड कैप 2.31 प्रतिशत अर्थात 115.17 अंक की बढ़त हुई और यह 5105.59 अंक पर बंद हुआ। स्माल कैप भी 2.44 प्रतिशत अर्थात 135.34 अंक की वृद्धि के साथ 5680.90 अंक पर रहा। कारोबार के दौरान आटो 5.16 प्रतिशत, बैंकिंग 4.76 प्रतिशत, आईटी 4.11 प्रतिशत, टेक 4.09 प्रतिशत, रियलटी 3.55 प्रतिशत, पीएसयू 3.31 प्रतिशत, एफएमसीजी 3.02 प्रतिशत, धातु 3.01 प्रतिशत, ऊर्जा 2.82 प्रतिशत, सीजी 2.72 प्रतिशत, सीडी 1.34 प्रतिशत, एचसी 0.96 प्रतिशत और तेल एवं गैस 0.48 प्रतिशत के लाभ रहे।

सेंसेक्स की कंपनियों में से रिलायंस इंफ्रा 8.44 प्रतिशत, एम एंड एम 8.07 प्रतिशत, जेपी एसो 7.20 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 6.82 प्रतिशत, टाटा मोटर्स 6.68 प्रतिशत, हीरो होंडा 6.49 प्रतिशत, हिंडालको 6.31 प्रतिशत, आईटीसी 5.99 प्रतिशत, एचडीएचसी 6.31 प्रतिशत, भारती एयरटेल 5.33 प्रतिशत, टाटा पावर 5.03 प्रतिशत, डीएलएफ 5.02 प्रतिशत, एसबीआई 4.19 प्रतिशत, इंफोसिस 4.01 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक 3.64 प्रतिशत, ग्रासिम इंड 3.62 प्रतिशत, मारूति सुजूकी 3.58 प्रतिशत, टीसीएस 3.13 प्रतिशत, विप्रो 3.11 प्रतिशत और एल एंड टी 3.03 प्रतिशत बढ़कर बंद हुए। स्टरलाइट 0.42 प्रतिशत, एनटीपीसी 0.15 प्रतिशत और रिलायंस 0.05 प्रतिशत के नुकसान में रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुधारों की संभावना से शेयर बाजारों की उड़ान