DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रदेश के अधिकांश जलाशयों में क्षमता से कम पानी उपलब्ध

उत्तर प्रदेश में वर्षा की कमी के चलते किसी भी जलाशय को पूरी क्षमता से नहीं भरा जा सका है। प्रदेश में चार जलाशय अपनी क्षमता के 50 प्रतिशत से अधिक भरे हैं जबकि पांच जलाशयों में 25 से 50 प्रतिशत के बीच जल उपलब्ध है।
 
केन्द्रीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार सोनभद्र जिले में रेणू नदी के ओबरा जलाशय में 91 प्रतिशत जल उपलब्ध है। इसी प्रकार चन्दौली जिले में कर्मनाशा नदी पर लतीफशाह जलाशय में 68.65 प्रतिशत, मिर्जापुर में पहती नदी पर 63.46 प्रतिशत, सोनभद्र में रिहन्द नदी पर रिहन्द जलाशय में 60.33 प्रतिशत जल उपलब्ध है। पांच जलाशय ऐसे हैं जिनमें उनकी क्षमता से 25 से 50 प्रतिशत के बीच जल उपलब्ध है।
 
ललितपुर में शहजाद नदी पर शहजाद जलाशय में अपनी क्षमता के 48.52 प्रतिशत जल उपलब्ध है। झांसी में पहुंच नदी पर चौधरी चरण सिंह पहुंच जलाशय में 30.12 प्रतिशत,चन्दौली में बहकर नदी के सिरसी जलाशय पर 38.04 प्रतिशत, सुखरा नदी के सुखरा जलाशय पर 39.59 प्रतिशत तथा हमीरपुर जनपद के बिरया नदी पर मौदाह बांध,स्वामी ब्रह्मानंद, जलाशय में 40 प्रतिशत ही जल उपलब्ध है। प्रदेश के लगभग 17 जलाशयों में उनकी क्षमता के सापेक्ष 10 से 25 प्रतिशत के बीच ही जल उपलब्ध है। पिछले 24 घंटों में प्रदेश के केबल दो ही स्थानों पर 25 मिमी0 से अधिक वर्षा रिकार्ड की गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रदेश के अधिकांश जलाशयों में क्षमता से कम पानी उपलब्ध