DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैच में छूटे कैच, कप्तान का दुखा दिल

टीम इंडिया के कार्यवाहक कप्तान विरन्दर सहवाग का मानना है कि न्यूजीलैंड को वापसी का मौका उनके साथियों ने ही दिया है। सहवाग यह भी मानते हैं कि दूसर टेस्ट के बाकी समय में हमें फील्डिंग में सुधार करना होगा। सहवाग ने कहा, ‘बॉलरों ने अच्छा किया। अगर हम कैच लेने में सफल रहते तो संभवत: सात या आठ विकेट निकाल सकते थे।’ उदास कप्तान ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, ‘अगर हमने टेलर का कैच लिया होता (ाब उन्होंने सिर्फ चार ही रन बनाए थे) तो 25 पर 4 विकेट निकल गए थे।’ एक समय न्यूजीलैंड के तीन विकेट 23 रन ही निकल गए थे। वह मुश्किल में था। एसे में रोस टेलर (151) और जेसी राइडर (137 बैटिंग) ने चौथे विकेट के लिए 271 रन की पार्टनरशिप कर टीम को मुश्किल से उबार लिया। युवराज का स्लिप में 4 रन के स्कोर पर टेलर का कैच टपकाना टीम इंडिया को भारी पड़ा। जब टेलर पर थे उस समय उन्हें एक और जीवनदान मिला। इस बार राहुल द्रविड़ ने उन्हें मौका दिया हालांकि स्लिप में खड़े द्रविड़ के लिए यह कैच इतना आसान नहीं था। इतना ही नहीं युवराज ने जेम्स फ्रेंकलिन दिन के खेल के अंतिम क्षणों में ड्रॉप किया। यह उस समय की बात है जब नई गेंद ली ही गई थी। सहवाग ने कहा, एसा होता है लेकिन भारतीय खिलाड़ियों को जल्द ही अपने फील्डिंग स्टैंडर्ड को सुधारना चाहिए। सहवाग ने कहा, ‘क्रिकेट में एसा होता है। कुछ दिन आप सबकुछ लपक लेते हैं और कुछ दिन एसा नहीं होता। लेकिन हमें अपनी फील्डिंग खासकर कैचिंग में सुधार करना होगा।’ पीठ में खिंचाव के चलते टीम रगुलर कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी के नहीं खेलने के चलते सहवाग कप्तानी कर रहे थे। उन्होंने कहा, टीम को लीड करना ऑनर होता है। धोनी की पीठ में खिंचाव है। वह एमआरआई के लिए गए थे। लगता है अब वे ठीक हैं। गत रात ही कोच गैरी कर्स्टन ने सहवाग से कहा था कि संभवत: उन्हें मैच में कप्तानी करनी पड़ सकती है। इससे पहले सहवाग 2005 में श्रीलंका के खिलाफ अहमदाबाद में राहुल द्रविड़ के स्थान पर कार्यवाहक कप्तान बने थे। इस मैच में भारत जीता था। टॉप के लिए धोनी का ब्लैजर पहनने वाले सहवाग ने कहा, ‘गैरी ने मुझसे कल बात की और बताया कि धोनी कल के मैच के लिए शायद फिट न हों। लेकिन उन्होंने यह भी कहा था कि इस बार में फैसला मैच से पूर्व ही होगा।’ सहवाग से जब पूछा गया कि आगे मैच कैसा चलेगा तो उन्होंने कहा, ‘यह बैटिंग के लिए अच्छा ट्रैक है। बॉलरों के लिए इसमें कुछ नहीं है। इसलिए उम्मीद है कि हम भी अच्छी बैटिंग करंगे। आज का दिन बॉलरों के लिए टफ था। एक लाइन-लेंथ पर बॉल करना आसान नहीं है क्यों बॉल अच्छी बैट पर आ रही है।’ सहवाग ने कहा, ‘फास्ट आउडफील्ड में यदि बल्लेबाज अपने शॉट खेलता और गेप पाने में सफल रहता है तो इस तरह के छोटे मैदान पर फील्ड सेट करना मुश्किल होता है। जो बल्लेबाज शॉट खेल रहे हैं उनको रोकने के लिए कवर, स्क्वेयर और पॉइंट बाउंड्री बहुत ही छोटी हैं।’ कीवी शतकधारियों का जमकर तारीफ करते हुए सहवाग ने कहा, ‘रोस टेलर और जेसी राइडर वाकई शानदार खेल और पार्टनर बहुत बड़ी थी। जिस तरह से वे बैटिंग कर रहे थे उन्हें रन बनाने से रोकना आसान नहीं था। हरभजन ने अच्छी गेंदबाजी की। लेकिन तेज गेंदबाजों के लिए इसमें कुछ नहीं है।’ सहवाग ने उम्मीद जताई की तीसर और चौथे दिन विकेट फिरकी गेंदबाजों की मदद करगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मैच में छूटे कैच, कप्तान का दुखा दिल