अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीरीज सील करने उतरेगा बांग्लादेश

सीरीज सील करने उतरेगा बांग्लादेश

पहले टेस्ट में वेस्टइंडीज के खिलाफ खराब शुरुआत से उबरकर मैच जीतने वाली बांग्लादेश की टीम शुक्रवार से शुरू हो रहे दूसरे और अंतिम टेस्ट को जीतकर सीरीज में मेजबान टीम का सफाया करने के मकसद से मैदान में उतरेगी।

टेस्ट इतिहास में दूसरी जीत दर्ज कर अपना मनोबल ऊंचा करने वाली मेहमान टीम वेस्टइंडीज में पहली बार सीरीज जीतने के लिए पूरा जोर लगाएगी। हालांकि यह अलग बात है कि मौजूदा टीम वेस्टइंडीज की दोयम दर्जे की टीम है। पहले टेस्ट की पहली पारी में मेहमान टीम की बल्लेबाजी खराब रही थी लेकिन दूसरी पारी में ओपनर तमीम इकबाल ने शतक ठोककर टीम के लिए जीत का मार्ग प्रशस्त किया था। इसके अलावा ऑफ स्पिनर मोहम्मद महमूदुल्लाह के करिश्माई प्रदर्शन की बदौलत बांग्लादेश ने मेजबान वेस्टइंडीज को पहले टेस्ट में 95 रन से शिकस्त दे दी थी।

बांग्लादेश की यह कुल दूसरी और विदेशी जमीन पर पहली टेस्ट जीत थी। इससे पहले उसने वर्ष 2005 में घरेलू जमीन पर जिम्बाब्वे को शिकस्त दी थी। हालांकि वेस्टइंडीज ने अनुबंध को लेकर प्रमुख खिलाडियों के बहिष्कार के कारण दोयम दर्जे की टीम को बांग्लादेश के खिलाफ उतारा था। बांग्लादेश को यह जीत टेस्ट खेलने वाले देश का दर्जा प्राप्त करने के नौ वर्ष बाद 60वें टेस्ट में नसीब हुई, लेकिन इन रिकार्डों से बेफिक्र मेहमान टीम के कप्तान मुशरिफ मुर्तजा को अपनी टीम पर काफी भरोसा है और उन्हें उम्मीद है कि उनकी टीम इस बार इतिहास रचने में कामयाब रहेगी। हालांकि चोट के कारण उनका इस टेस्ट में खेलने पर संदेह है। मेहमान टीम की गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों ही मेजबान टीम से बेहतर है। ऐसे में दूसरे टेस्ट में भी बांग्लादेश का पलड़ा भारी माना जा रहा है।

दूसरी ओर, नए खिलाड़ियों की फौज के साथ मैदान में उतरी वेस्टइंडीज टीम के लिए यह मैच इज्जत का सवाल होगा। नए कप्तान फ्लायड रीफर को अपनी टीम के सभी खिलाड़ियों से इस टेस्ट में एकजुट होकर प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित करना होगा। वहीं, अनुभवी डेविड बर्नाड, रेयान हाइंडस और डेरेन सैमी को इस मैच में हरहाल में बेहतर प्रदर्शन करना होगा।

कप्तान रीफर भी नहीं चाहेंगे कि इस टेस्ट में उनको हार मिले। उनका तो एकमात्र लक्ष्य इस टेस्ट को जीतकर सीरीज में बराबरी हासिल करना होगा, लेकिन इसके लिए मेजबान टीम के गेंदबाजों को भी बेहतर प्रदर्शन करना होगा। सैमी की अगुआई में वेस्टइंडीज टीम के तेज गेंदबाजों को इस मैच में हर हाल में बेहतर प्रदर्शन करना होगा। कुल मिलाकर बांग्लादेश के लिए यह मैच इतिहास रचने का एक मौका होगा। वहीं, नए नवेले खिलाड़ियों के साथ उतरी वेस्टइंडीज टीम के लिए यह मैच करो या मरो का है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीरीज सील करने उतरेगा बांग्लादेश