DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंक के खिलाफ विश्वसनीय कदम उठाए पाकः भारत

आतंक के खिलाफ विश्वसनीय कदम उठाए पाकः भारत

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अपने पाकिस्तानी समकक्ष यूसुफ रजा गिलानी से गुरूवार को मुलाकात से पहले बुधवार रात कहा कि जटिल द्विपक्षीय मसलों का हल निकाला जाना अभी बाकी है और पाक को आतंक के मुददे पर विश्वसनीय कार्रवाई करनी ही होगी।

विदेश सचिव शिवशंकर मेनन ने भारत और पाकिस्तान के आपसी रिश्तों को तनावग्रस्त बताते हुए कहा कि दोनों पक्ष जानते हैं कि समस्या का हल निकालना ही होगा। मेनन ने कहा अतीत में हमारे बीच मुश्किल मसले रहे हैं और हमारे पास अब भी कठिन मुददे हैं। उन्होंने कहा कि इन मसलों के हल के लिये बातचीत के अलावा और कोई रास्ता नहीं है।

पाकिस्तान द्वारा शनिवार को भारत को नया डोजियर सौंपे जाने के बारे में पूछने पर भारतीय विदेश सचिव ने कहा कि उसमें मुम्बई हमलों के सिलसिले में अदालती कार्यवाही का सामना कर रहे पांच आरोपियों, नौ घोषित अपराधियों तथा हमलों के सिलसिले में वांछित कुछ अन्य लोगों की पहचान से जुड़े दस्तावेज शामिल हैं।

मेनन ने कहा कि अपने पाकिस्तानी समकक्ष सलमान बशीर के साथ हुई बातचीत में उन्होंने पाकिस्तान के सामने माफिया डॉन दाउद इब्राहिम तथा भारत में वांछित अन्य भगोड़े अपराधियों का मुददा भी उठाया।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनके पाकिस्तानी समकक्ष यूसुफ रज गिलानी के बीच गुरुवार बातचीत के बाद संयुक्त बयान जारी किये जने की सम्भावना के बारे में पूछने पर मेनन ने कहा कि ऐसा होगा या नहीं, यह तो गुरूवार को ही पता लगेगा। मेनन ने कहा कि सवाल यह है कि हम इन तनाव भरे सम्बन्धों से पैदा हुई बातों से कैसे निपटते हैं और भविष्य की तरफ किस तरह देखते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे आतंकवादी हमलों की लम्बी श्रंखला है जिन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

विदेश सचिव ने कहा कि भारत ने स्पष्ट कर दिया है कि पाकिस्तान को मुम्बई हमलों में शामिल लोगों को सजा दिलाने और अपने यहां फलफूल रहे आतंकवादी ढांचे को खत्म करने के लिये विश्वसनीय कार्रवाई करनी ही होगी। मेनन ने कहा कि बशीर के साथ उनकी अच्छी और विस्तृत बातचीत हुई। उन्होंने संकेत दिया कि दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की बातचीत से पहले उनकी अपने पाकिस्तान समकक्ष से और बातचीत होने की सम्भावना है।

मेनन ने एक सवाल पर कहा कि बातचीत के दौरान जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज मोहम्मद सईद का मुददा भी उठा था। पाकिस्तान की पंजब सरकार द्वारा सईद की रिहाई के खिलाफ दायर याचिका को वापस लिये जने की खबरों पर उन्होंने कहा हम इस मामले पर स्थिति स्पष्ट होने का इंतजर कर रहे हैं।

बुधवार को गिलानी से भी मुलाकात कर चुके मेनन ने कहा कि विचार-विमर्श के दौरान पाकिस्तानी पक्ष ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के लिये उठाए गए कदमों का जिक्र किया और इस बुराई से मुकाबले की संकल्पबद्धता व्यक्त की।

इसी बीच गुट निरपेक्ष आंदोलन के नेता जहां वैश्विक मुद्दों पर चर्चा करने के लिए जुटे हैं, वहीं प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की पत्नी गुरशरण कौर सहित विश्व नेताओं की पत्नियां एक समानांतर बैठक कर रही हैं ताकि मानव तस्करी और महिलाओं के समक्ष मौजूदा अन्य समस्याओं पर विचार-विमर्श किया जा सके। गुरशरण कौर की गुरूवार को इस सम्मेलन को संबोधित करने की संभावना है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आतंक के खिलाफ विश्वसनीय कदम उठाए पाकः भारत