DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूआईडी

संभव है कि वर्ष 2011 तक आपको नागरिकता पहचान पत्र के लिए ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड या फिर वोटर आईडी जैसे तमाम कार्डो के झंझट से मुक्ति मिल जाए। अभी तक देश में कोई एक सर्वमान्य नागरिकता पहचान पत्र नहीं है। इस कमी को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार ने देश के हर नागरिक को एक ‘स्मार्ट कार्ड’ यानी यूनिक आईडेंटिफिकेशन नंबर जारी करने की योजना बनाई है। इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट पर काम शुरू हो चुका है और इंफोसिस के पूर्व चेयरमैन नंदन नीलेकणी को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है।

कैसे करेगा काम : यूआईडी के तहत सरकार द्वारा देश के समस्त नागरिकों को एक यूनिक नंबर दिया जाएगा। इसके जरिए देश की आंतरिक सुरक्षा से जुड़ी चिंताओं के समाधान के अलावा वस्तुओं और सेवाओं के सार्वजनिक बंटवारे के लिए एक व्यवस्थित तंत्र भी विकसित किया जा सकेगा। शुरुआत में यूनिक आईडेंटिफिकेशन संख्या मतदाता पहचान पत्र या राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टार के आधार पर आवंटित की जाएगी।

इसमें देश के नागरिकों की सही पहचान पर किसी भी तरह की जालसाजी की संभावना खत्म करने के लिए इसमें फोटो और बायोमैट्रिक आंकड़े जोड़े जाएंगे। लोगों के फायदे के लिए इसके आसान पंजीकरण और जानकारी के अपडेटेशन की प्रक्रिया को भी आसान बनाया जाएगा। खास बात यह है कि यह निर्वाचन आयोग के वोटर आईडी तथा आयकर विभाग से प्राप्त होने वाले पैन कार्ड की भरपाई भी कर सकेगा। कार्ड के माध्यम से किसी भी व्यक्ति की जन्म तिथि, स्थान, स्थायी पता, उम्र, पेशा, आय आदि की  विस्तृत जानकारी मिलेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूआईडी