DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यमुना अथॉरिटी के 19 गांवों की फाइलें गायब

यमुना अथॉरिटी के जेवर क्षेत्र के करीब 19 गावों के किसानों की फाइलें गायब हो गई हैं । इससे प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। प्रशासन के आला अधिकारी गायब हुई फाइलों को तलाशने में लगे हैं। अफसरों को डर सता रहा है कि कही यह फाइलें भूमाफियाओं के हाथ तो नही लग गई हैं।


कलक्ट्रेट में अचानक भूमाफियाओं की सक्रियता से और बल मिल रहा है। बुधवार को जेवर क्षेत्र के कई गावों के किसान कलक्ट्रेट पर आए हुए थे। उन्हें भूमाफियाओं ने घेर रखा था। वह किसानों को भरोसा दिला रहे थे कि वह अपनी गायब फाइलों की चिंता न करें। जिस किसान कि जितनी जमीन है उसका कुछ एडवांस पैसा ले कर जमीन उनके नाम कर दें। शेष बकाया पैसा मुआवज उठने पर दे दिया जाएगा । कहा तो यहां तक जा रहा है कि किसान अपनी गुम हुई फाइल को ढूंढने के बजाय भूमाफियाओं से समझौता भी कर चुके हैं। इससे साफ जाहिर होता है कि किसानों की फाइलें गायब होने में इन्हीं लोगों का हाथ हो सकता है।


उधर एडीएम प्रशासन ओपी आर्य का मानना है कि कुछ किसानों की फाइलें गायब होने की सूचना मिली है। उसकी जांच कराई जा रही है साथ ही गायब फाइलों को ढूंढने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने जोर देकर कहा कि किसानों को बहकाकर उनकी जमीन हड़पने वाले भूमाफियाओं की पहचान कर उनके खिलाफ सख्त कारवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यमुना अथॉरिटी के 19 गांवों की फाइलें गायब